NDTV Khabar

एमपी: गौशाला में बैल को घास खिलाने गया था चौकीदार, सींग मारकर किया लहूलुहान, मौके पर ही मौत

चौकीदार पटेल दस साल से फार्म हाउस में रहकर खेती और गौशाला का काम देखता था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एमपी: गौशाला में बैल को घास खिलाने गया था चौकीदार, सींग मारकर किया लहूलुहान, मौके पर ही मौत

बैल ने चौकीदार को पीछे से सींग मार दी थी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  1. बैल ने सींग मार दिया जो चौकीदार के बांये पैर की जांघ में घुस गया.
  2. घटना के समय फार्म हाउस में चौकीदार अकेला था.
  3. चौकीदार के शव को पोस्टमार्टम के लिये भिजवा दिया गया है.
भोपाल:

जबलपुर शहर से लगभग 15 किलोमीटर दूर छतरपुर गांव में एक फार्म हाउस में 70 वर्षीय चौकीदार को बैल ने सींग मार दिए जिसके बाद मौके पर ही चौकीदार की मौत हो गई. गौर पुलिस चौकी के प्रभारी उपनिरीक्षक ए गर्ग ने गुरुवार को बताया कि मृतक चौकीदार की पहचान दीक्षितपुरा के रहने वाले सुदर्शन पटेल के रूप में हुई है. उन्होंने बताया कि छतरपुर गांव में डॉ ओ पी साहनी का फार्म हाउस है जिसमें गौशाला भी बनी हुई है. पटेल विगत दस साल से फार्म हाउस में रहकर खेती और गौशाला का काम देखता था.

यह भी पढे़ं- पहले 5,000 रुपये में खरीदा कोबरा, फिर पत्नी की हत्या कर शव पर गड़ाए उसके दांत, पर खुल गई पोल

टिप्पणियां

पुलिस ने बताया कि सुबह छह बजे चौकीदार गौशाला में काले रंग के बैल को घास देने गया था तभी बैल ने उसे पीछे से सींग मार दिया जो उसके बांये पैर की जांघ में घुस गया. पटेल की जांघ से खून की धार फूट पड़ी और वह वहीं बेहोश होकर गिर पड़ा.


पुलिस के मुताबिक  घटना के समय फार्म हाउस में पटेल अकेला था. घर पर दूध नहीं पहुंचने पर पटेल के बेटे ने उसे फोन लगाया और फोन नहीं उठाने पर उसने पड़ोस में रहने वाले लड़के को फार्म हाउस भेजा. लड़के ने वहां जाकर देखा तो वृद्ध चौकीदार की मौत हो चुकी थी. घटना की सूचना पर पुलिस ने मामला दर्ज कर वृद्ध चौकीदार के शव को पोस्टमार्टम के लिये भिजवा दिया है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Good Newwz Box Office Collection Day 22: अक्षय कुमार की फिल्म ने 22वें दिन भी की धुआंधार कमाई, जानें कुल कलेक्शन

Advertisement