NDTV Khabar

दक्षिण चीन सागर में अमेरिका और चीन के युद्धपोत आमने-सामने आए

अमेरिका के प्रशांत बेड़े के उप प्रवक्ता नेट क्राइसेनसेन ने कहा कि चीनी विध्वंसक ‘‘दक्षिण चीन सागर में गावेन रीफ के पास असुरक्षित एवं गैरपेशेवराना तरीके से यूएसएस डेकाटूर के पास पहुंचा.’’

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दक्षिण चीन सागर में अमेरिका और चीन के युद्धपोत आमने-सामने आए

फाइल फोटो

नई दिल्ली:
टिप्पणियां

अमेरिका ने चीनी नौसैनिक पोत पर आरोप लगाए हैं कि जब एक अमेरिकी युद्धपोत विवादित दक्षिण चीन सागर में प्रवेश किया था तो चीनी पोत ‘‘असुरक्षित एवं गैरपेशेवराना’’ तरीके से अपनी गतिविधियां संचालित कर रहा था. चीन ने दक्षिण चीन सागर में उन द्वीपों और चट्टानों के पास से अमेरिकी युद्धपोत के गुजरने पर मंगलवार को कड़ा असंतोष और दृढ़ विरोध जताया है जिन पर वह अपना कब्जा बताता है. चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने मंगलवार को एक बयान में कहा, ‘‘अमेरिकी विध्वंसक डेकाटूर ने 30 सितंबर को चीन सरकार की इजाजत के बगैर चीन के नानशा द्वीपसमूह के द्वीपों और चट्टानों से लगे जलक्षेत्र में प्रवेश किया.’’    
 

ईरान की नौसेना और अमेरिकी विमानवाहक पोत यूएसएस थियोडोर का आमना-सामना, देखें VIDEO


हुआ ने बताया कि चीनी नौसैनिक पोत ने अमेरिकी युद्धपोत की शिनाख्त की, उसे चेताया और वहां से हटाया.    उन्होंने जोर दिया कि नानशा द्वीपसमूह (स्पार्टली द्वीपसमूह) और उसके इर्दगिर्द के जलक्षत्र पर चीन की निर्विवाद संप्रभुता है. इस बीच, अमेरिका के एक आधिकारिक बयान में चीनी विध्वंसक के इस कदम को ‘‘असुरक्षित बताया’’ क्योंकि वह अमेरिकी युद्धपोत के 41 मीटर के दायरे में आ चुका था. 
जानें, देश में बने जंगी जहाज़ INS विशाखापट्टनम की खूबियां​

अमेरिका के प्रशांत बेड़े के उप प्रवक्ता नेट क्राइसेनसेन ने कहा कि चीनी विध्वंसक ‘‘दक्षिण चीन सागर में गावेन रीफ के पास असुरक्षित एवं गैरपेशेवराना तरीके से यूएसएस डेकाटूर के पास पहुंचा.’’

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement