Coronavirus: चीन में सांप से फैला कोरोना वायरस, पहले मरीज की बचाई गई जान

हाल ही में किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि चीन की हुआनन सीफूड मार्केट से ये क्रोनोवायरस आया. चीन के अधिकारियों का मानना है कि ये वायरस इसी मार्केट में मिले किसी जानवर से आया है. पेकिंग यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने पाया कि यह वायरस बाज़ार में मिलने वाले सांप में से किसी मनुष्य में प्रवेश हुआ है.

Coronavirus: चीन में सांप से फैला कोरोना वायरस, पहले मरीज की बचाई गई जान

चीन कोरोना वायरस से निपटने में जुटा

बीजिंग:

हाल ही में मध्य चीन के हूपेइ प्रांत की राजधानी वूहान समेत कुछ इलाकों में नए कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमित न्यूमोनिया के मामले सामने आए हैं. इससे निपटने के लिए चीन की सरकार और विभिन्न स्थानीय विभागों ने सक्रिय रूप से कदम उठाए हैं. चीनी स्वास्थ्य समिति ने रोग के रोकथाम कार्य पर जोर दिया और नियंत्रण के लिए कदम उठाए हैं.

20 जनवरी से ही देश भर में नए कोरोना वायरस संक्रमित न्यूमोनिया मामले की रोजमर्रा रिपोर्ट पेश करने की व्यवस्था लागू की गई. 21 जनवरी से रोज देश भर के विभिन्न प्रांतों में निश्चित रोग मामलों से संबंधित आंकड़ा सार्वजनिक करना शुरू हुआ.

Novel Coronavirus: क्या है कोरोना वायरस, यहां जानिए इसके लक्षण और इलाज

डेलीमेल के मुताबिक, 'हाल ही में किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि चीन की हुआनन सीफूड मार्केट से ये क्रोनोवायरस आया. चीन के अधिकारियों का मानना है कि ये वायरस इसी मार्केट में मिले किसी जानवर से आया है. पेकिंग यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने पाया कि यह वायरस बाज़ार में मिलने वाले सांप में से किसी मनुष्य में प्रवेश हुआ है.'

वहीं, क्रोनोवायरस से पीड़ित पहले मरीज की जान बचा ली गई है. 23 साल का हुआंग इस वायरस से बचाए गए पहले शख्स हैं. हुआंग ट्रेन स्टेशन पर काम करता है, जो कि सीफूड मार्केट के करीब है. वहीं से ये शख्स इस वायरस की चपेट में आया. 

हुआंग ने बताया, 'सबसे पहले मुझे सिर दर्द और फिर चक्कर आना शुरू हुआ. लेकिन उसके बाद बुखार हो गया.' 

इस वायरस की पहचान होने के बाद डॉक्टरों ने हुआंग का इलाज आईसीयू में किया और वो सुरक्षित है. 

चीनी स्वास्थ्य समिति ने कहा कि संक्रमित रोग के स्रोत की जांच, संक्रमण का रास्ता, वायरस की जांच और फैलाने में आए परिवर्तन आदि पर जोर दिया जाएगा, साथ ही अंतर्राष्ट्रीय आदान-प्रदान और सहयोग को मजबूत किया जाएगा, विश्व स्वास्थ्य संगठन(डब्ल्यूएचओ), संबंधित देशों, हांगकांग, मकाओ और थाईवानी क्षेत्र के बीच रोग से संबंधित स्थिति को लेकर संपर्क को मजबूत किया जाएगा, रोग की रोकथाम और नियंत्रण कदम पर विचार-विमर्श करके उसे संपूर्ण किया जाएगा.

समिति ने कहा है कि चीन के क्वांगतोंग, पेइचिंग और शांगहाई आदि स्थलों में व्यापक तौर पर रोकथाम और नियंत्रण कार्य की व्यवस्था करने के लिए तेज प्रतिक्रिया उठाई. रोग स्थिति सूचित व्यवस्था शुरू हुई और बुखार क्लीनिक के लिए खास रास्ता खोला गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: क्‍या है कोरोना वायरस, जानें इसके कारण, लक्षण, इलाज और बचाव के उपाय

(इनपुट - आईएएनएस)