NDTV Khabar

बर्खास्तगी के बाद प्रधानमंत्री पद के लिए लालू यादव का फॉर्मूला आजमाएंगे नवाज शरीफ

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि यदि पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ को प्रधानमंत्री बनाया जाता है तो कानूनी अड़चन पैदा हो सकता है.

87 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बर्खास्तगी के बाद प्रधानमंत्री पद के लिए लालू यादव का फॉर्मूला आजमाएंगे नवाज शरीफ

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ.

खास बातें

  1. पीएम पद से बर्खास्त नवाज शरीफ चल सकते हैं लालू की राह
  2. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री की रेस में नवाज की पत्नी कुलसुम
  3. भाई शहबाज शरीफ के पीएम बनने की हो रही है बातें
नई दिल्ली: पनामा गेट मामले में आरोपी बनाए जाने के बाद नवाज शरीफ के कुर्सी गंवाने के बाद उनकी पत्नी कुलसुम नवाज के प्रधानमंत्री बनने की संभावना है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नवाज शरीफ अपने भाई शहबाज शरीफ के बजाय पत्नी कुलसुम नवाज को प्रधानमंत्री के पद पर बैठा सकते हैं. यहां गौर करने वाली बात यह है कि बिहार में चारा घोटाला मामले में लालू प्रसाद यादव ने जेल जाने के बाद पत्नी राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री की कुर्सी सौंपी थी. मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि यदि पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ को प्रधानमंत्री बनाया जाता है तो कानूनी अड़चन पैदा हो सकता है. पाकिस्तानी मीडिया में सूत्रों के हवाले से ये भी कहा जा रहा है कि नवाज शरीफ अपने किसी कैबिनेट मंत्री को प्रधानमंत्री बनाने के पक्ष में नहीं हैं.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान का कोई भी प्रधानमंत्री पूरा नहीं कर पाया अपना पांच साल का कार्यकाल

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गई नवाज की कुर्सी: पाकिस्तान के शीर्ष न्यायालय ने शुक्रवार को भ्रष्टाचार के मामले में पाकिस्तान के तीन बार के प्रधानमंत्री को अयोग्य ठहराते हुए व्यवस्था दी कि पनामा पेपर्स के खुलासे को लेकर उनके और उनकी संतानों के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले चल सकते हैं. इसके बाद शरीफ को इस्तीफा देने के लिए बाध्य होना पड़ा.

ये भी पढ़ें: ‘पंजाब का शेर’ कहे जाने वाले पीएम नवाज शरीफ का इस्तीफा

लेखक और वरिष्ठ पत्रकार जाहिद हुसैन के मुताबिक शरीफ के उत्तराधिकारी को लेकर कोई भी आश्वस्त होकर कुछ नहीं कह सकता है. यह बहुत अनिश्चय की स्थिति है. 


वीडियो: नवाज बोले, हमारे परिवार के खिलाफ साजिश


शरीफ के परिवार द्वारा संचालित पीएमएलएन की तरफ से किसी को नेता के रूप में पेश करने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर हुसैन ने कहा, ‘मैं ऐसा नहीं मानता हूं क्योंकि पार्टी एक व्यक्ति या एक परिवार के आसपास घूमती है. पार्टी के लिए ऐसे व्यक्ति को ढूंढना मुश्किल काम है जो पार्टी को एकजुट रख सके और अगले चुनावों में भी जा सके.’ 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement