NDTV Khabar

कॉकपिट में सिगरेट पी रहा था पायलट, इस वजह से क्रैश हुआ यूएस-बांग्‍ला विमान, मारे गए थे 51 लोग 

पिछले साल 12 मार्च को यूएस-बांग्‍ला एयरलाइन बॉमबार्ड‍ियर (यूबीजी-211) लैंडिंग के ठीक बाद क्रैश हो गया था. हादसे की जांच के बाद रविवार को जारी हुई रिपोर्ट के मुताबिक उस प्‍लेन क्रैश के लिए और कोई नहीं बल्‍कि पायलट जिम्‍मेदार था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कॉकपिट में सिगरेट पी रहा था पायलट, इस वजह से क्रैश हुआ यूएस-बांग्‍ला विमान, मारे गए थे 51 लोग 

यूएस-बांग्‍ला प्लेन क्रैश में 51 लोगों की मौत हुई थी.

खास बातें

  1. पिछले साल 12 मार्च को यूएस-बांग्‍ला प्लेन क्रैश हुआ था.
  2. ये प्लेन लैंडिंग के ठीक बाद क्रैश हो गया था.
  3. इस हादसे में 51 लोग मारे गए थे.
नई दिल्ली:

पिछले साल नेपाल में एक बड़ा विमान हादसा हो गया था, जिसमें 51 लोगों की मौत हो गई थी. हादसे की जांच के बाद रविवार को जारी हुई रिपोर्ट के मुताबिक उस प्‍लेन क्रैश के लिए और कोई नहीं बल्‍कि पायलट जिम्‍मेदार था. रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पायलट कॉकपिट में सिगरेट पी रहा था और उसी वजह से प्‍लेन क्रैश हो गया. नेपाल की राजधानी काठमांडू के त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्ट (TIA) में पिछले साल 12 मार्च को यूएस-बांग्‍ला एयरलाइन बॉमबार्ड‍ियर (यूबीजी-211) लैंडिंग के ठीक बाद क्रैश हो गया था. अब अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की है कि पाबंदी के बावजूद फ्लाइट का इंचार्ज पायलट कॉकपिट में सिगरेट पी रहा था और इसी वजह से प्‍लेन क्रैश हो गया.

आपको बता दें कि कंपनी की पॉलिसी के मुताबिक सभी घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों के दौरान सिगरेट पीने पर पूरी तरह से पाबंदी है. जांच कमीशन को मिली जानकारी के मुताबिक पायलट सिगरेट पीने का आदी था. जांच कमीशन सीवीआर यानी कि कॉकपिट वॉइस रिकॉर्डर से मिली जानकारी के बाद इस नतीजे पर पहुंचा है कि फ्लाइट के दौरान पायलट ने कॉकपिट में सिगरेट पी थी. हालांकि ऑपरेशन डिपार्टमेंट और अन्‍य प्राधिकरण पायलट द्वारा इस तरह सुरक्षा नियमों से खिलवाड़ करने की बात पर पूरी तरह से आश्‍वस्‍त नहीं हैं. 


रिपोर्ट में साफ तौर पर कहा गया है कि फ्लाइट में सिर्फ तंबाकू का इस्‍तेमाल किया गया था. साथ ही रिपोर्ट यह भी कहा गया है कि फ्लाइट के दौरान किसी भी तरह के प्रतिबंधित नशे का इस्‍तेमाल नहीं किया गया था. आपको बता दें कि हादसे के बाद जांच के लिए कमीशन गठित किया गया था. 

जांच कमीशन ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि हादसा पूरी तरह से क्रू की लापरवाही से हुआ. इस रिपोर्ट में क्रू के सदस्‍यों के अलावा त्रिभुवन एयरपोर्ट के कंट्रोल टावर को भी जिम्‍मेदार ठहराया गया है. कॉकपिट वॉइस रिकॉर्डर से मिले डेटा में खुलासा हुआ है कि लैंडिंग के दौरान टर्मिनल एरिया में क्रू और ट्रैफिक कंट्रोलर (VNKT Tower) के बीच बातचीत में कंफ्यूजन था.

गौरतलब है कि प्‍लेन की लैंडिंग के दौरान कॉकपिट और केब्रिन क्रू के दो-दो सदस्‍यों समेत 67 यात्रियों में से 45 यात्री मारे गए थे. बाद में अस्‍पताल में इलाज के दौरान दो अन्‍य यात्रियों ने दम तोड़ दिया था. इस तरह कुल 51 लोगों ने लापरवाही की कीमत अपनी जान देकर चुकाई 

(इनपुट-एएनआई)

टिप्पणियां

अन्य खबरें
आपका Facebook डेटा सेफ है या नहीं? CEO मार्क जुकरबर्ग ने दिया ये जवाब
अमेरिका: ट्रंप ने 35 दिन के शटडाउन के बाद की समझौते की घोषणा, साथ ही दी यह चेतावनी...
 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement