काबुल यूनिवर्सिटी में आतंकी हमले में 19 की मौत, मरने वालों में ज्‍यादातर स्‍टूडेंट

पिछले साल इस विश्वविद्यालय के गेट पर बम विस्फोट में आठ लोगों की जान चली गई थी. वर्ष 2016 में बंदूकधारियों ने काबुल स्थित अमेरिकी विश्वविद्यालय पर हमला किया था और 13 लोगों को मार डाला था.

काबुल यूनिवर्सिटी में आतंकी हमले में 19 की मौत, मरने वालों में ज्‍यादातर स्‍टूडेंट

हमले के बाद काबुल यूनिवर्सिटी परिसर के बाहर तैनात पुलिस के जवान (AFP फोटो)

खास बातें

  • आतंकी हमले में तीन‍ लोग बताए गए हैं शामिल
  • इनमें से एक ने खुद को विस्‍फोटक से उड़ाया
  • दो लोगों को बाद में सुरक्षा बलों ने मार गिराया
काबुल:

अफगानिस्‍तान की काबुल यूनिवर्सिटी (Kabul University) में सोमवार को हुए आतंकी हमले (Terror attack) में कम से कम 19 लोगों की मौत हो गई. मारे गए लोगों में से ज्‍यादातर स्‍टूडेंट थे. आतंकी अफगानिस्‍तान की प्रमुख यूनिवर्सिटी में दाखिल हो गए. कई घंटों तक चले इस हमले के बाद कई छात्रों को क्‍लासरूम में खून से लथपथ देखा गया. काबुल में दो सप्‍ताह में ऐसा दूसरी बार हुआ है जब किसी शिक्षण संस्‍थान को टारगेट करके हमला किया गया. हमले में बचने में सफल रहे लोगों ने करीब 11 बजे हुई इस घटना के डरावने अनुभव को बयां किया जब एक आत्‍मघाती हमलावर ने यूनिवर्सिटी परिसर में प्रवेश करके खुद को उड़ा लिया. अधिकारियों ने बताया कि दो अन्‍य हमलावरों ने फायरिंग शुरू कर दी जिसके चलते सैकड़ों छात्र डर के मारे यहां-वहां भागने लगे.

पुलवामा जैसे हमले को टाला गया, जम्मू-कश्मीर हाईवे के पास मिला 52 किलो विस्फोटक: सेना

23 साल के स्‍टूडेंट फराईदून अहमद ने AFP को बताया कि जब यूनिवर्सिटी में फायरिंग शुरू हुई तब वह क्‍लास में था. उन्‍होंने कहा, 'हम बेहद डरे हुए थे और लग रहा था कि यह हमारी जिंदगी का अंतिम दिन हो सकता है.लड़के-लड़कियां चिल्‍ला रहे थे, रो रहे थे और प्रार्थना कर रहे थे.' उन्‍होंने कहा कि वे और अन्‍य स्‍टूडेंट दो घंटे से अधिक समय तक फंसे रहे. बाद में उन्‍हें सुरक्षित निकाला गया. किसी भी आतंकी संगठन ने अभी हमले की जिम्‍मेदारी नहीं ली है.आंतरिक मामलों के प्रवक्‍ता तारिक एरियन के अनुसार, 19 लोगों की मौत हुई है जबकि 22 अन्‍य घायल हुए हैं. यह स्‍पष्‍ट नहीं हो पाया कि सुरक्षा चैक वाली यूनिवर्सिटी में हमलावर, हथियार ले जाने में किस तरह से सफल हो गए. काबुल पुलिस के प्रवक्‍ता ने कहा कि मारे सभी लोगों ने 10 महिलाएं शामिल हैं.

दिल्ली में लोन वुल्फ अटैक और फिदायीन हमला करने की फिराक में था संदिग्ध आतंकी

गौरतलब है कि इससे पहले, पिछले साल इस विश्वविद्यालय के गेट पर बम विस्फोट में आठ लोगों की जान चली गई थी. वर्ष 2016 में बंदूकधारियों ने काबुल स्थित अमेरिकी विश्वविद्यालय पर हमला किया था और 13 लोगों को मार डाला था.पिछले ही महीने इस्लामिक स्टेट ने राजधानी के शिया बहुल दश्त-ए-बार्ची के एक शिक्षण केंद्र में आत्मघाती बम हमलावर भेजा था जिसके हमले में 24 विद्यार्थियों की मौत हो गई थी और 100 से अधिक घायल हुए थे.

Newsbeep

मसूद अज़हर, उसके भाई को बताया गया पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड : सूत्र

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)