क्या US-चीन के बीच शुरू हो गया है नया ‘कोल्ड वॉर’? चीनी विदेश मंत्री ने लगाए गंभीर आरोप

कोरोनावायरस से फैले कोविड-19 महामारी और हॉन्ग-कॉन्ग की स्थिति को लेकर दुनिया की दो महाशक्तियों- चीन और अमेरिका के बीच बढ़ता तनाव धीरे-धीरे शीत युद्ध का रूप लेता जा रहा है.

क्या US-चीन के बीच शुरू हो गया है नया ‘कोल्ड वॉर’? चीनी विदेश मंत्री ने लगाए गंभीर आरोप

व्यापार युद्ध के बाद US-चीन 'कोल्ड वॉर' की ओर बढ़ते जा रहे हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • चीनी विदेश मंत्री ने US पर लगाए गंभीर आरोप
  • व्यापार युद्ध के बाद दोनों देश 'शीत युद्ध की कगार पर'
  • डोनाल्ड ट्रंप पहले ही हर संबंध खत्म करने की दे चुके हैं धमकी
बीजिंग:

कोरोनावायरस से फैले कोविड-19 महामारी और हॉन्ग-कॉन्ग की स्थिति को लेकर दुनिया की दो महाशक्तियों- चीन और अमेरिका के बीच बढ़ता तनाव धीरे-धीरे शीत युद्ध का रूप लेता जा रहा है. चीन की ओर से रविवार को अमेरिका पर ऐसे ही गंभीर आरोप लगाए गए हैं. चीन के विदेश मंत्री की ओर से कहा गया है कि अमेरिका के कदम दोनों देशों को नए शीत युद्ध की ओर धकेल रहे हैं.

चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने रविवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘हमारी जानकारी में आया है कि अमेरिका में कुछ राजनीतिक ताकतें दोनों देशों के संबंधों को हाईजैक करके हमें शीत युद्ध के किनारे पर धकेल देने की कोशिशें कर रही हैं.'

वांग ने इस बारे में कुछ साफ नहीं बताया कि वो किन ‘ताकतों' की बात कर रहे हैं लेकिन इतना जरूर है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कोविड-19 आउटब्रेक के बाद से ही चीन को लेकर सख्ती दिखा रहे हैं और उन्होंने इस बात के भी संकेत दिए हैं कि वो इस बार चीन से अपने रिश्ते पूरी तरह खत्म करने तक का कदम उठा सकते हैं. चीन इस वायरस को लेकर अपने रवैये के चलते पहले ही पूरी दुनिया के निशाने पर है.

दोनों देशों के बीच साल भर से ज्यादा वक्त से ट्रेड वॉर को लेकर अस्थिरता बनी हुई थी, जो चीन से शुरू हुए कोरोनावायरस से फैल रही कोविड-19 महामारी के बाद और गहरा रही है. इसके अलावा मानवाधिकारों को लेकर अमेरिका पहले से ही चीन को लताड़ता आया है.

चीन के वुहान शहर से फैली इस महामारी ने दुनियाभर में अबतक 50 लाख से ज्यादा लोगों को अपना शिकार बनाया है, जिसमें 3,30,000 लोगों की मौत हो चुकी है.

कोरोनावायरस की आलोचना के इतर, चीन की विधायिका में शुक्रवार को अर्ध-स्वायत्त शहर हॉन्ग-कॉन्ग में पूरी तरह से लोकतंत्र लाने की मांग के साथ चल रहे अभियान को दबाने के लिए एक सुरक्षा बिल पेश किया गया है, जिसके चलते महीनों तक हड़ताल पर रहे हॉन्ग-कॉन्ग में फिर से पारा चढ़ गया है. वहीं, अमेरिका सहित दूसरे कई देशों ने भी इसकी निंदा की है.

लेकिन वांग ने अपने बयान में अमेरिका पर बार-बार चीन का नाम लेकर उसे बदनाम करने का आरोप लगाया है.


सालाना होने वाली विधायिका की बैठक के दौरान हुए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में वांग ने कहा कि ‘कोरोनावायरस के संकट के बीच अमेरिका में एक राजनीतिक वायरस भी फैला हुआ है. इस वायरस के जरिए चीन पर हमला करने का हर मौका ढूंढा जा रहा है. कुछ नेताओं ने मामूली तथ्यों तक को दरकिनार कर दिया और बस चीन को लेकर झूठ और षड्यंत्र फैला रहे हैं.'

वीडियो: लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल के पास भारत को गश्‍त लगाने में बाधा डाल रहा चीन : विदेश मंत्रालय

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)