खून से भरे समुद्र की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर VIRAL, जानिए इसकी वजह

फअरो आईलैंड के स्थानीय लोग हर साल द ग्राइन्ड (The Grind या Grindadrap) नाम की वार्षिक परंपरा का पालन करते हैं. इस परंपरा में यहां के लोग समुद्री किनारों पर आई पायलेट व्हेल और डॉलफिन्स (जिनके किनारे सफेद हों) को जिंदा मारते हैं. 

खून से भरे समुद्र की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर VIRAL, जानिए इसकी वजह

खून से भरा समुद्री किनारा...

फेरो आईलैंड:

सोशल मीडिया पर खून से भरे इस समुद्री किनारे की तस्वीर वायरल हो रही है. लोग इस तस्वीर की गुत्थी को समझने की कोशिश कर रहे हैं कि फोटो में दिखाई दे रहा मंजर सच है या झूठ. अगर आप भी इस तस्वीर की सच्चाई जानने की कोशिश कर रहे हों तो बता दें कि ये फोटो फअरो आईलैंड या फेरो आईलैंड की है, जो कि स्कॉटलैंड से करीब 321 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद है. 

तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि दर्जनों व्हेल मछलियों को मार दिया गया. इन मछलियों के मारे जाने के कारण समंदर का पानी ख़ून से लाल हो गया है.

समुद्र किनारे लोग कर रहे थे मस्ती, उसी वक्त आ गई 20 व्हेल, Video में देखिए आगे क्या हुआ

फअरो आईलैंड के स्थानीय लोग हर साल द ग्राइन्ड (The Grind या Grindadrap) नाम की वार्षिक परंपरा का पालन करते हैं. इस परंपरा में यहां के लोग समुद्री किनारों पर आई पायलेट व्हेल और डॉलफिन्स (जिनके किनारे सफेद हों) को जिंदा मारते हैं. 

प्रेग्नेंट व्हेल की हुई दर्दनाक मौत, पेट के अंदर से मिला 22 किलो प्लास्टिक

मेल ऑनलाइन के मुताबिक, इस साल द ग्राइन्ड उत्सव में 23 पायलेट व्हेल्स को मारा गया और साल 2019 में अभी तक 536 व्हेल मछलियों को मारा जा चुका है.

बता दें, पायलेट व्हेल का मांस फअरो आईलैंड पर राष्ट्रीय भोजन की तरह है. एक व्हेल से करीब कई सौ किलो मांस और चर्बी मिल जाती है. इस आईलैंड के लोग व्हेल के मांस को उबाल कर, भून कर और एयर-ड्रायर करके खाते हैं. 

इस ट्रेडिशन के खिलाफ पर्यावरण कार्यकर्ता काम कर रहे हैं. 

Newsbeep

VIDEO: गया था मछली पकड़ने, करोड़पति बनकर लौटा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com