Brexit में वोट की खातिर शेख हसीना की भांजी ने आगे बढ़वाई बच्चे को जन्म देने की तारीख

Brexit Deal: बांग्लादेश मूल की ब्रिटेन की 36 वर्षीय सांसद ने ऐतिहासिक मतदान में वोट डालने के लिए अपनी प्रसव की तारीख आगे बढ़ा दी. लेबर पार्टी की सांसद ट्यूलिप सिद्दिक (Tulip Siddiq) बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना (Sheikh Hasina) की भांजी है.

Brexit में वोट की खातिर शेख हसीना की भांजी ने आगे बढ़वाई बच्चे को जन्म देने की तारीख

Brexit Deal में वोट की खातिर सांसद ट्यूलिप सिद्दिक (Tulip Siddiq) ने आगे बढ़वाई बच्चे को जन्म देने की तारीख.

बांग्लादेश मूल की ब्रिटेन की 36 वर्षीय सांसद ने यूरोपीय संघ से अलग होने के लिए प्रस्तावित ऐतिहासिक मतदान में वोट डालने के लिए अपनी प्रसव की तारीख आगे बढ़ा दी. लेबर पार्टी की सांसद ट्यूलिप सिद्दिक (Tulip Siddiq) बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना (Sheikh Hasina) की भांजी है. उन्हें डॉक्टरों ने सोमवार या मंगलवार को सिजेरियन प्रसव की सलाह दी थी लेकिन उन्होंने इस प्रक्रिया को बृहस्पतिवार तक के लिए टाल दिया ताकि वह हाउस ऑफ कॉमन्स में मंगलवार को ब्रेक्जिट  समझौते (Brexit Deal) के लिए होने वाले मतदान में वोट डाल सकें. सिद्दिक ने इवनिंग स्टैंडर्ड को बताया कि यह उनका दूसरा बच्चा है.

ब्रेक्जिट समझौता ब्रिटिश संसद में खारिज, PM टेरेसा मे के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का ऐलान

 

 

पहले प्रसव के दौरान उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था. वह अपने दूसरे बच्चे को सिजेरियन प्रक्रिया से चार फरवरी को जन्म देने वाली थीं लेकिन गर्भावस्था के दौरान मधुमेह होने की वजह से उन्हें डॉक्टरों ने प्रसव की तारीख को इस सोमवार और मंगलवार को तय करने को कहा था. मंगलवार को ब्रेक्जिट के लिए ऐतिहासिक मतदान होना है. इसको देखते हुए उन्होंने लंदन के रॉयल फ्री अस्पताल के डॉक्टरों से बात की और वह तारीख को आगे बढ़ाने पर सहमत हो गए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ब्रेक्जिट समझौता: PM टेरेसा की कैबिनेट को करारा झटका, ब्रेक्जिट मंत्री ने दिया इस्तीफा

ब्रिटिश संसद में ब्रेक्जिट समझौते पर मंगलवार को ऐतिहासिक मतदान होना है. समझौते के खारिज होने को लेकर सभी पक्ष चिंतित हैं. ब्रेक्जिट से निकलने के लिये 29 मार्च की तारीख निर्धारित की गयी है. इसमें दो महीने बचे हैं. यदि ब्रिटिश संसद में यह प्रस्ताव पारित नहीं होता है तो ब्रिटेन की यूरोपीय संघ छोड़ने की योजना खटाई में पड़ सकती है.