Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Chandrayaan-2 को लेकर हरभजन सिंह ने किया ऐसा ट्वीट, भड़क गए लोग, बोले- शर्म आनी चाहिए...

चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) सफलता पूर्वक लॉन्च हो चुका है. जिसको लेकर लोग काफी एक्साइटिड हैं और भारतीय स्पेस एजेंसी इसरो के वैज्ञानिकों की खूब तारीफ कर रहे हैं. इसी बीच हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने ऐसा ट्वीट किया, जिस पर लोग भड़क गए.

Chandrayaan-2 को लेकर हरभजन सिंह ने किया ऐसा ट्वीट, भड़क गए लोग, बोले- शर्म आनी चाहिए...

Chandrayaan-2 को लेकर हरभजन सिंह ने किया ऐसा ट्वीट.

चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) सफलता पूर्वक लॉन्च हो चुका है. जिसको लेकर लोग काफी एक्साइटिड हैं और भारतीय स्पेस एजेंसी इसरो के वैज्ञानिकों की खूब तारीफ कर रहे हैं. राजनेताओं से लेकर सेलीब्रिटीज तक चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग पर ट्विटर के जरिए बधाई दे रहे हैं. इसी बीच हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने ऐसा ट्वीट किया, जिस पर लोग भड़क गए. लोग उन्हें 'जातिवाद फैलाने वाला' और 'इस्लामोफोबिक' कह रहे हैं. 

आतंकियों ने अगवा कर जवान की हत्या की थी, अब भाइयों ने बदला लेने के लिए ज्वाइन की आर्मी, पिता बोला- 'धोखे से मारा, अब..'

ट्विटर पर उन्होंने बिना नाम लिए पाकिस्तान का मजाक उड़ाया. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा- 'कई देशों के झंडों में चांद होते हैं. वहीं कुछ देशों के झंडे चांद पर हैं.' बता दें, उन्होंने झंडे लगाए थे. जिनके झंडों में चांद दिख रहा है. इन झंडों में पाकिस्तान का झंडा है, जिसे सबसे पहले लगाया गया है. 

बिहार में आफत बनकर आई बाढ़, महिला ने एनडीआरएफ की नाव में दिया बच्ची को जन्म

ट्वीट में पाकिस्तान के साथ तुर्की, लीबिया, ट्यूनीशिया, अजरबैजान, अल्जीरिया, मलयेशिया, मालदीव और मॉरिटानिया का झंडा इस्तेमाल किया है. वहीं बिना चांद वाले ट्वीट में उन्होंने भारत, अमेरिका, चीन और रूस के झंडे का इस्तेमाल किया है. ट्विटर पर यूजर्स उनके इस ट्वीट की खूब आलोचना कर रहे हैं और उनको जातिवाद फैलाने वाला बता रहे हैं. 

दुल्हन के पिता ने दिया दहेज तो कोर्ट में मिली ऐसी सजा, कहा गया- दहेज लेना अपराध है तो देना भी अपराध

बता दें, चंद्रमा के अनछुए पहलुओं का पता लगाने के लिए चंद्रयान-2 सोमवार को यहां स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एसडीएससी) से शान के साथ रवाना हो गया. इसे ‘बाहुबली' नाम के सबसे ताकतवर रॉकेट जीएसएलवी-मार्क ।।। के जरिए अपराह्न दो बजकर 43 मिनट पर प्रक्षेपित किया गया. सोमवार का यह प्रक्षेपण अंतरिक्ष क्षेत्र में भारत की धाक जमाएगा और यह चांद के बारे में दुनिया को नई जानकारी उपलबध कराएगा. गत 15 जुलाई को रॉकेट में तकनीकी खामी का पता चलने के बाद इसका प्रक्षेपण टाल दिया गया था. उस दिन इसका प्रक्षेपण तड़के दो बजकर 51 मिनट पर होना था, लेकिन प्रक्षेपण से 56 मिनट 24 सेकंड पहले रॉकेट में तकनीकी खामी का पता चलने के बाद चंद्रयान-2 की उड़ान टाल दी गई थी. उस दिन राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द भी प्रक्षेपण स्थल पर मौजूद थे.