NDTV Khabar

Apollo 11 Space Mission: चांद पर कदम रखने के बाद नील आर्मस्ट्रॉन्ग ने मांगी थी इंदिरा गांधी से माफी, जानिए पूरा किस्सा

Apollo 11 Space Mission: गूगल (Google) ने आज अपना खास डूडल (Google Doodle) मिशन अपोलो-11 (Apollo 11 Space Mission) को समर्पित किया है. आज अपोलो-11 स्पेस मिशन (Apollo 11 Mission) को 50 साल पूरे हो चुके हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Apollo 11 Space Mission: चांद पर कदम रखने के बाद नील आर्मस्ट्रॉन्ग ने मांगी थी इंदिरा गांधी से माफी, जानिए पूरा किस्सा

Apollo 11 Space Mission: जब नील आर्मस्ट्रांग ने मांगी इंदिरा गांधी से माफी

Apollo 11 Space Mission: गूगल (Google) ने आज अपना खास डूडल (Google Doodle) मिशन अपोलो-11 (Apollo 11 Space Mission) को समर्पित किया है. आज अपोलो-11 स्पेस मिशन (Apollo 11 Mission) को 50 साल पूरे हो चुके हैं. ये मिशन दो लोगों (Neil Armstrong And Edwin 'Buzz' aldrin) को चंद्रमा पर लाने और उन्हें सुरक्षित पृथ्वी पर वापस लाने का था. गूगल ने अपने डूडल में नील आर्मस्ट्रॉन्ग (Neil Armstrong) को चांद पर कदम रखते हुए दिखाया है. उसको क्लिक करने पर वीडियो शुरू हो जाता है. जहां पूरा सफर देखा जा सकता है. मिशन अपोलो-11 को 16 जुलाई 1969 को कैनेडी स्पेस सेंटर लॉन्च कॉम्प्लेक्स 39-ए से सुबह 8:32 पर लॉन्च किया गया था. नील आर्मस्ट्रॉन्ग (Neil Armstrong) ने 20 जुलाई को चांद पर कदम रखा था. जिसको देखने के लिए दिवंगत भूतपूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) सुबह 4.30 बजे तक जागती रही थीं, और जब आर्मस्ट्रांग को इस बारे में सूचित किया गया तो उन्होंने इसके लिए खेद व्यक्त किया था. 

50th Anniversary of the Moon Landing: ऐसे चांद पर पहुंचे थे नील आर्मस्ट्रॉन्ग, Google Doodle ने वीडियो में दिखाया Apollo 11 का सफर

a0pkfgu

पूर्व विदेशमंत्री नटवर सिंह (Natwar Singh) ने ये किस्सा बयां किया था. उन्होंने बताया कि चंद्रमा से धरती पर लौटने के बाद जब नील आर्मस्ट्रॉन्ग (Neil Armstrong) अपने सहयोगी अंतरिक्ष यात्री के साथ अपनी विश्व यात्रा के तहत नई दिल्ली में इंदिरा गांधी से मिले, उस समय वहां वह (नटवर सिंह) भी मौजूद थे. इंदिरा द्वारा बातचीत का संकेत दिए जाने पर नटवर ने कहा , मिस्टर आर्मस्ट्रॉन्ग, आपकी यह जानने में दिलचस्पी होगी कि प्रधानमंत्री सुबह 4.30 बजे तक जागती रही थीं, क्योंकि वह चंद्रमा पर आपके उतरने के क्षण से चूकना नहीं चाहती थीं.

...जब नील आर्मस्ट्रांग ने मांगी इंदिरा गांधी से माफी

neil armstrong nasa

इस पर नील आर्मस्ट्रॉन्ग ने कहा, 'मैडम प्रधानमंत्री, आपको हुई असुविधा के लिए मैं खेद व्यक्त करता हूं. अगली बार, मैं सुनिश्चित करूंगा कि जब हम चंद्रमा पर उतरें तो आपको इतना न जागना पड़े.' मानवजाति के इतिहास में 20 जुलाई, 1969 का वह दिन हमेशा ऐतिहासिक घटना बना रहेगा, जब आर्मस्ट्रांग के नेतृत्व में अपोलो-11 अंतरिक्ष यान चंद्रमा पर पहली बार उतरा था.

टिप्पणियां

'अंतरिक्ष' यात्रा से अब नहीं लौटेंगे आर्मस्ट्रांग

नटवर सिंह ही दोनों अंतरिक्ष यात्रियों को संसद भवन कार्यालय स्थित इंदिरा गांधी के कक्ष में ले गए थे. उस समय तत्कालीन अमेरिकी राजदूत भी उपस्थित थे. उन्होंने बताया, जब फोटाग्राफर दोनों अंतरिक्ष यात्रियों की इंदिरा गांधी के साथ तस्वीरें खींचकर बाहर चले गए तो वहां अजीब-सी खामोशी छा गई. 82 साल की उम्र में 25 अगस्त, 2012 को नील आर्मस्ट्रॉन्ग की मौत हो चुकी है.
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement