NDTV Khabar

जिसने खोला पीएम मोदी के चमकते चेहरे का राज, जानिए उसके बारे में सबकुछ

अल्पेश ठाकुर गुजरात के अहमदाबाद जिले के इंडला गांव के रहने वाले हैं. वह राधनपुर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.अल्पेश ने ओबीसी, एससी, एसटी एकता मंच भी बनाए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जिसने खोला पीएम मोदी के चमकते चेहरे का राज, जानिए उसके बारे में सबकुछ

कांग्रेस में शामिल हुए OBC एकता मंच के नेता अल्‍पेश ठाकोर ने किया पीएम मोदी पर बड़ा बयान.

खास बातें

  1. अल्पेश ठाकुर गुजरात के अहमदाबाद जिले के इंडला गांव के रहने वाले हैं.
  2. अल्पेश ठाकुर राधनपुर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.
  3. पाटीदार आंदोलन के बाद अल्पेश ने ओबीसी, एससी, एसटी एकता मंच भी बनाए.
नई दिल्ली: कांग्रेस में शामिल हुए OBC एकता मंच के नेता अल्‍पेश ठाकोर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में कहा था कि मोदी का रंग पहले उनकी तरह गहरा हुआ करता था, लेकिन अब उनके गाल लाल हैं. उन्‍होंने कहा था कि पीएम मोदी रोजाना चार लाख रुपये के मशरूम खा रहे हैं, जिसके उनके गाल लाल हो रहे हैं.

ठाकोर के मुताबिक ताइवान से आने वाले एक मशरूम की कीमत 80 हजार रुपये है और पीएम मोदी हर रोज ऐसे पांच मशरूम खा रहे हैं. पीएम मोदी के चमकते चेहरे का राज खोलने वाले अल्पेश ठाकुर का नाम ओबीसी के बड़े नेता है. वह पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के साथ भी रहे हैं. गुजरात चुनाव में उनको कांग्रेस का बड़ा चेहरा माना जा रहा है. आइए जानते हैं कौन हैं अल्पेश ठाकुर...

पढ़ें- मशरूम खाकर पीएम नरेंद्र मोदी के गाल लाल हुए ये तो नहीं पता, लेकिन इसको खाने के हैं ये फायदे
 
alpesh

कौन हैं अल्पेश ठाकुर
*
अल्पेश ठाकुर गुजरात के अहमदाबाद जिले के इंडला गांव के रहने वाले हैं.
* वह राधनपुर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.
* पाटीदार आंदोलन के बाद अल्पेश ने ओबीसी, एससी, एसटी एकता मंच भी बनाए.
* अल्पेश ठाकुर के पिता कोडाजी ठाकुर बीजेपी में रह चुक हैं जिसके बाद वो कांग्रेस में शामिल हुए थे.
* गुजरात की आबादी में ओबीसी का हिस्सा 40 फीसदी है. ऐसे में कहा जा रहा है कि गुजरात में वो बीजेपी को नुकसान पहुंचा सकते हैं.

पढ़ें- अल्पेश ठाकोर ने कहा, 80 हजार का मशरूम खाकर गोरे हो गए हैं पीएम मोदी, टि्वटर पर लोगों ने ली चुटकी
 
alpesh thakore 650

पढ़ें- नए रिसर्च में दावा, बुढ़ापा रोकना है तो जरूर खाएं मशरूम

18 दिसंबर को होगा फैसला
गुजरात में किसकी सरकार आएगी इसका फैसला 18 दिसंबर को होगा. बता दें कि पहले चरण में 89 सीटों के लिए हुई वोटिंग में 66.75 फीसदी मतदान हुए. साल 2012 में भाजपा ने 115 सीट जीती थीं. कांग्रेस को 61 सीटों पर जीत मिली थीं. अब देखना दिलचस्प होगा कि 18 दिसंबर को गुजरात की जनता क्या जनादेश देती है और वो 22 साल के बीजेपी के शासन पर ही भरोसा जताती है या फिर कांग्रेस को एक विकल्प और उम्मीद के तौर पर एक मौका देना चाहती है. 

टिप्पणियां
देखें वीडियो - अल्पेश ठाकोर के विवादित बोल, ताइवान का मशरूम खाकर गोरे हो गए हैं पीएम

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement