NDTV Khabar

इस एक सिक्के की कीमत है 6 लाख रुपये से भी ज्यादा, जानिए ऐसा क्यों

इस करंसी का नाम है बिटक्वाइन, जिसके खरीदने के लिए कई अरबपती लाइन में खड़े हैं. लेकिन आपको बता दें ये किसी देश की करंसी नहीं है बल्कि ये एक डिजिटल करंसी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इस एक सिक्के की कीमत है 6 लाख रुपये से भी ज्यादा, जानिए ऐसा क्यों

ये एक डिजिटल करंसी है. जिसका नाम बिटक्वाइन है.

खास बातें

  1. बिटक्वाइन एक तरह की डिजिटल करंसी है.
  2. फिलहाल एक क्वाइन की कीमत 6 लाख 68 हजार है.
  3. हर मिनट इसकी कीमत ऊपर-नीचे होती रहती है.
नई दिल्ली: कहा जाता है कि डॉलर और पाउंड सबसे महंगी और पॉवरफुल करंसी होती है. लेकिन यकीन मानिए ऐसा है नहीं, एक और ऐसी करंसी है जिसकी कीमत इससे कई गुना ज्यादा है. जी हां, जहां एक डॉलर की कीमत 64 रुपये है और एक पाउंड की कीमत 86 रुपये है वहीं एक ऐसी करंसी है जिसकी एक सिक्के की कीमत 6 लाख रुपये से भी ज्यादा है. हैरान रह गए ना, लेकिन ये सच है. अगर आप भी इस करंसी का एक सिक्का खरीदना चाहत हैं तो आपको लाखों रुपये खर्च करने पड़ेंगे. 

पढ़ें- बिटक्वाइन बेचने का झांसा देकर 36 लाख रुपये लूट लिए, छह गिरफ्तार

इस करंसी का नाम है बिटक्वाइन, जिसके खरीदने के लिए कई अरबपती लाइन में खड़े हैं. लेकिन आपको बता दें ये किसी देश की करंसी नहीं है बल्कि ये एक डिजिटल करंसी है. जो किसी कानून के दायरे में नहीं आती. इस सिक्के का इस्तेमाल सिर्फ ऑनलाइन ही हो सकता है. इसमें बैंक के लेनदेन, ट्रांसफर, डायरेक्ट ट्रांजैक्शन, ऑनलाइन शॉपिंग के लिए होता है.

30 नवंबर को एक क्वाइन की कीमत 6 लाख 68 हजार है. लेकिन हर मिनट इसकी कीमत ऊपर-नीचे होती रहती है.

पढ़ें- आसमान छूती वर्चुअल करेंसी बिटकॉइन पर सरकार का रुख साफ नहीं
 
bitcoin 650

बढ़ती जा रही है इसकी कीमत
पहले आपको बताते चलें कि बिटक्वाइन एक तरह की डिजिटल करंसी है. इसे इलेक्टॉनिक तरीके से बनाया जाता है. ये क्वाइन किसी के हाथ में नहीं बल्कि इलेक्टॉनिक तरीके से ही रखा जाता है. रुपये की तरह इसकी छपाई नहीं होती. इसे कम्प्यूटर के जरिए ही बनाया जाता है और काफी सेफ तरीके से रखा जाता है. 

पढ़ें- रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की चेतावनी के बावजूद 2,500 भारतीय रोजाना कर रहे यह 'गलती'

टिप्पणियां
कैसे किया जा सकता है काम
कुछ दिनों पहले साइबर अटैक हुआ था. जिसके बाद साइबर हमलावरों ने सिस्टम की फाइलों को फिर से अनलॉक करने के लिए 300 डॉलर बिटक्वाइन की मांग की थी. बिटक्वाइन का इस्तेमाल इसी तरह होता है. दूर बैठे अगर किसी ने ऑनलाइन हल निकाल लेता है तो उसे बिटक्वाइन मिलते हैं. बिटक्वाइन को पैसों के जरिए भी खरीदा जा सकता है और लगातार इसकी कीमत बढ़ती जा रही है. 

रिजर्व बैंक ने नहीं दी बिटक्वाइन की मान्यता
बिटक्वाइन बाहरी देशों में खूब चल रहा है. लेकिन रिजर्व बैंक ने अभी तक बिटक्वाइन को मान्यता नहीं दी है. लेकिन भारत डिजिटल करेंसी लाने का विचार कर रहा है. सरकार लक्ष्मी नाम से वर्चुअल करंसी लाने का विचार कर रही है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement