NDTV Khabar

गाने को लेकर सहज रहने वाले मनोज तिवारी ने शिक्षिका को डांटा, कहा 'सांसद गाना कैसे गाएगा'

6351 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गाने को लेकर सहज रहने वाले मनोज तिवारी ने शिक्षिका को डांटा, कहा 'सांसद गाना कैसे गाएगा'

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी पेशे से गायक भी हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. मनोज तिवारी दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष हैं
  2. एक वीडियो में वह शिक्षिका को डांटते दिखाई दे रहे हैं
  3. शिक्षिका ने उनसे गाना गाने की गुजारिश की थी
नई दिल्ली: भोजपुरी अभिनेता और सांसद मनोज तिवारी का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वह एक शिक्षिका को मंच पर डांट रहे हैं. बातचीत से प्रतीत होता है कि शिक्षिका ने उनका मंच पर अभिनंदन करने के बाद उनसे गाना गाने का निवेदन किया था जिस पर तिवारी भड़क गए. मनोज तिवारी नाराज़गी जताते हुए कह रहे हैं कि 'यह कोई मज़ाक नहीं है कि आप सांसद को बोलें कि आप गाना गाओ, यह तमीज़ है आपकी..'

जहां आम आदमी पार्टी ने महिला आयोग से इस मामले पर कार्यवाही के लिए कहा है, वहीं मनोज तिवारी ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर सफाई दी और कहा कि 'अपने MPLAD फण्ड से मैंने 2 करोड़ रुपये के सीसीटीवी लगवाने के शिलान्यास का काम शुरू किया था. एंकर ने मुझे बुलाने से पहले ही एक सांसद, एक प्रदेश अध्यक्ष को गाना गाने के लिए बोल दिया. मैंने कुछ बोला भी नहीं, उससे पहले उन्होंने मुझसे कहा गाना गाइये. अगर आप लोगों को लगता है यही मर्यादा होनी चाहिए तो मैं क्षमा प्रार्थी हूं. अगर कोई शिक्षक हो या नेता हो और उसको मर्यादा बताई जाए तो क्या ये गलत है? अगर मनीष सिसोदिया जी कहीं जाएं और एंकर उनसे कहें कि बोलने से पहले से डांस कर दीजिए तो क्या आप इसको सही ठहराएंगे?'

यहां देखने वाली बात यह है कि मनोज तिवारी पहली बार गाने की मांग को लेकर नाराज़ होते दिखाई दे रहे हैं. आम तौर पर वह बिना गुज़ारिश के सरकारी कार्यक्रमों में भी गाना गाते नज़र आए हैं. हाल ही में नोटबंदी को लेकर उनका एक वायरल वीडियो सामने आया था जिसमें वह एटीएम के बाहर लाइन में खड़े लोगों का मज़ाक उड़ाते दिखाई दे रहे थे. वह 'देशभक्त है कतार में' नाम का एक गीत गाते हुए उपहास के अंदाज़ में कह रहे हैं कि यह गीत सुनकर लोग कहते हैं कि हम तो लगे रहेंगे लाइन में.

हालांकि बाद में वह यह सफाई देते नज़र आए कि लाइन में लगे लोगों पर गाना गाना मजाक उड़ाना कैसे हो सकता है. उन्होंने यह गीत इसलिए तैयार किया था ताकि लोगों में जोश बना रहे. इसके लिए उन्होंने अरविंद केजरीवाल और उनकी टीम पर साजिश का आरोप लगाया. उन्होंने यह भी कहा था कि वह तो यह गीत कई बार गाते आए हैं.

गाने को लेकर इतना सहज रहने वाले मनोज तिवारी इस बार शिक्षिका से क्यों नाराज़ हो बैठे, यह साफ नहीं हो पाया. फिलहाल आप देंखे यह वीडियो -

 
गौरतलब है कि पुराने नोटों को बंद करने के नरेंद्र मोदी सरकार के फैसले के बाद नकदी की कमी से नाराज लोगों को अपने साथ लाने के लिए मनोज तिवारी के नेतृत्व में दिल्‍ली भाजपा ने नाराज लोगों का मुंह मीठा कर मनाने की योजना बनाई थी. दिल्ली बीजेपी ने इसे ‘लड्डू’ योजना नाम दिया था जिसके तहत पार्टी ने दिल्‍ली में अपने कार्यकर्ताओं से एटीएम और बैंकों की लाइन में खड़े लोगों को लड्डू खिलाने का काम सौंपा था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement