NDTV Khabar

शहीद का परिवार रह रहा था झोपड़ी में, सरकार ने नहीं की मदद तो गांव वालों ने चंदा कर बना दिया 'महल' देखें VIDEO

मध्यप्रदेश के देपालपुर के पीर पीपलिया गांव के लोगों ने कुछ ऐसा किया जिसको देखकर आपके चेहरे पर भी मुस्कान आ जाएगी. पीर पीपलिया गांव के रहने वाले हवलदार मोहन सिंह सुनेर त्रिपुरा में बीएसएफ की ओर से आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हो गये.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शहीद का परिवार रह रहा था झोपड़ी में, सरकार ने नहीं की मदद तो गांव वालों ने चंदा कर बना दिया 'महल' देखें VIDEO

शहीद का परिवार रह रहा था झोपड़ी में, गांव के लोगों ने चंदा कर बना दिया 'महल'

मध्यप्रदेश के देपालपुर के पीर पीपलिया गांव के लोगों ने कुछ ऐसा किया जिसको देखकर आपके चेहरे पर भी मुस्कान आ जाएगी. पीर पीपलिया गांव के रहने वाले हवलदार मोहन सिंह सुनेर त्रिपुरा में बीएसएफ की ओर से आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हो गये. 27 साल से उनका परिवार गांव में इस टूटे फूटे कच्चे मकान में रहने को मजबूर था. सरकार ने उनकी कभी सुध नहीं ली. कुछ दिनों पहले गांववालों ने चंदा जुटाया, 11 लाख रूपये जमा किये और शहीद की विधवा राजू बाई को ये घर रक्षाबंधन के दिन तोहफे में दिया.

राखी पर नहीं जाने दिया मायके तो पत्नी ने उठाया हैरान कर देने वाला कदम, उठाया तमंचा और...

तोहफा देने का तरीका भी शानदार, बहन ने अपने भाइयों के हाथ पर सवार होकर अपने नये घर में गृहप्रवेश किया. सीमा सुरक्षा बल में तैनात मोहन लाल सुनेर का परिवार मजदूरी कर के अपना पेट पाल रहा था, क्योंकि 700 रुपये की पेंशन तीन लोगों के लिये पर्याप्त नहीं थी.


पाकिस्तान में फहराया गया तिरंगा, भारतीय उच्चायोग में लगे 'जय हिंद' के नारे, बोले- ' यहां तिरंगा...' देखें VIDEO

देखें VIDEO:

जिसे देखकर गांव के नौजवानों ने एक अभियान शुरू किया और देखते ही देखते 11 लाख रुपए जमा कर लिए इससे मकान तैयार हो गया और पिछले साल की तरह इस साल भी उन्होंने शहीद की पत्नी से राखी बंधवाकर उन्हें रक्षाबंधन के तोहफे में नये घर की चाबी सौंप दी.

टिप्पणियां

WWE सुपरस्टार जॉन सीना ने दी भारत को Independence Day की बधाई, बनाया ये Special Video

गांववालों ने पीरपिपल्या मुख्य मार्ग पर शहीद की प्रतिमा लगाने की योजना भी बनाई है, साथ ही जिस सरकारी स्कूल में उन्होंने पढ़ाई की है, उसका नाम भी उनके नाम पर करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं.
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement