पाकिस्तान में फहराया गया तिरंगा, भारतीय उच्चायोग में लगे 'जय हिंद' के नारे, बोले- ' यहां तिरंगा...' देखें VIDEO

इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग में 73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर गुरुवार को बड़े उत्साह के साथ परिसर के अंदर तिरंगा फहराया गया.

पाकिस्तान में फहराया गया तिरंगा, भारतीय उच्चायोग में लगे 'जय हिंद' के नारे, बोले- ' यहां तिरंगा...' देखें VIDEO

पाकिस्तान में फेहराया गया तिरंगा.

इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग में 73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर गुरुवार को बड़े उत्साह के साथ परिसर के अंदर तिरंगा फहराया गया. जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने के बाद पाकिस्तान से निष्कासित मौजूदा भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया ने कहा, "भारतीय उच्चायोग में झंडा फहराता रहेगा."

CM योगी आदित्यनाथ ने विधानभवन में किया ध्वजारोहण, फिर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से बंधवाई राखी

इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग ने ट्वीट किया, "भारत के 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पाकिस्तान के इस्लामाबाद में स्थित भारतीय उच्चायोग में बड़े उत्साह के साथ तिरंगा फहराया गया। डी-एफेयर्स के प्रभारी गौरव अहलूवालिया ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया और राष्ट्रपति के संदेश को पढ़ा." इस हफ्ते की शुरुआत में निष्कासित होने के बाद दिल्ली आए अजय बिसारिया ने ट्वीट कर कहा, "भारतीय उच्चायोग में झंडा इसी तरह फहराता रहेगा."

Independence Day: पीएम मोदी ने लालकिले से कहा- पॉलीथीन का इस्तेमाल ना करें और 2 अक्टूबर से...

भारतीय उच्चायोग ने अपने कर्मचारियों की तस्वीरों को पोस्ट किया। 50 पुरुषों को बंद-गले के काले सूट में देखा जा सकता है. उनके साथ नौ महिलाएं साड़ी पहने कुछ बच्चों के साथ खड़ी हैं. सभी ने हाथ पकड़े हैं और कुछ ने विक्ट्री का साइन (विजय चिन्ह) बनाया है.

370 और तीन तलाक का जिक्र करने के बाद पीएम मोदी ने लाल किले से कीं ये 5 अहम अपील

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सभी कर्मियों की तस्वीरें ऐसे समय में आई हैं जब कुछ दिन पहले ही पाकिस्तानी मीडिया ने दावा किया था कि उनकी सरकार ने अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद द्विपक्षीय संबंधों को खत्म करते हुए भारतीय उच्चायोग के 13 सदस्यों को निष्कासित कर दिया है. भारतीय विदेश मंत्रालय ने इन सभी खबरों का खंडन करते हुए कहा था कि उच्चायोग के कुछ कर्मचारी भारत में वापस अपने घर ईद मनाने के लिए आए थे.