NDTV Khabar

MS Dhoni ने विकेट के पीछे से इस गेंदबाज को कहा- थोड़ा आगे डाल, जिसके बाद हुआ था ये चमत्कार

एमएस धोनी (MS Dhoni) कप्तान रोहित शर्मा के पास गए और टीम के नए खिलाड़ी खलील अहमत को ट्रॉफी देने के लिए कहा. जिसके बाद न्यूजपेपर्स और ऑनलाइन मीडिया में सुर्खियां बन गई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
MS Dhoni ने विकेट के पीछे से इस गेंदबाज को कहा- थोड़ा आगे डाल, जिसके बाद हुआ था ये चमत्कार

MS Dhoni ने विकेट के पीछे से इस गेंदबाज को कहा- थोड़ा आगे डाल.

महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) भले ही अब टीम इंडिया के कप्तान न हों. लेकिन उनके अंदर से कोई कंप्तानी नहीं निकाल सकता. कई बड़े क्रिकेटर्स के लिए धोनी अभी भी लीडर हैं. बड़े क्रिकेटर्स में विराट कोहली का भी नाम शामिल है. उन्होंने एक बार कहा भी था- 'धोनी मेरे लिए अभी भी कप्तान हैं.'

MS Dhoni को आउट करना चाहता था ये पाकिस्तानी, देश छोड़कर ऐसे पूरा किया सपना

2018 एशिया कप जीतने के बाद एमएस धोनी (MS Dhoni) कप्तान रोहित शर्मा के पास गए और टीम के नए खिलाड़ी खलील अहमत को ट्रॉफी देने के लिए कहा. जिसके बाद न्यूजपेपर्स और ऑनलाइन मीडिया में सुर्खियां बन गई. धोनी जब कप्तान थे तो वो सीरीज जीतने के बाद नए खिलाड़ी को ट्रॉफी पहले थमाते हैं. ये प्रथा अभी भी चली आ रही है. टीम इंडिया के लिए पहले मैच खेले खलील ने एशिया कप की ट्रॉफी उठाई थी. 

MS Dhoni ने प्रियंका चोपड़ा के मंगेतर के साथ खेला फुटबॉल, दिखे कई बॉलीवुड सेलेब्स


Timesofindia से बात करते हुए खलील अहमत ने कहा- 'धोनी भाई ने रोहित शर्मा से पूछा कि मैं ट्रॉफी उठा सकता हूं. क्योंकि टीम में मैं ही नया खिलाड़ी था. ट्रॉफी को पकड़ना मेरे लिए खास पल था. धोनी भाई और रोहित शर्मा ने मुझसे ट्रॉफी पकड़ने को कहा तो मेरे पास कोई शब्द नहीं थे. मैं काफी भावुक हो गया था. वो पल मैं कभी नहीं भूल सकूंगा.'

टिप्पणियां

Asia Cup 2018: रोहित शर्मा ने धोनी से ऐसी सीख ली है, जिसे जान आप भी कहेंगे 'माही सच में कूल है'

राजस्थान टोंक के रहने वाले 20 वर्षीय खलील अहमद ने एशिया कप में दो मुकाबले खेले हैं. वो हॉन्ग कॉन्ग और अफगानिस्तान के खिलाफ खेले थे. उन्होंने कहा- हॉन्ग कॉन्ग के खिलाफ 259 रन बनाने के बाद उनके ओपनर्स शानदार बल्लेबाजी कर रहे थे. 150 रन की साझेदारी हो चुकी थी. वो मुझे बुरी तरह पीट रहे थे. कुछ भी सही नहीं चल रहा था. उसी वक्त धोनी मेरे पास आए और बोला- 'पेस मैंटेन करके रख और थोड़ा आगे डाल.' जिसके बाद मैं दो बार कोशिश की और मुझे सफलता मिली. मैं उनकी शुरुआती साझेदारी तोड़ दी थी. उनकी वजह से ऐसा हो पाया. हम सभी सौभाग्यशाली हैं कि हमारे पास धोनी जैसे खिलाड़ी है.'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement