IND vs AUS: मिचेल स्टार्क की पत्नी ने 5 छक्के जड़कर तोड़ा टीम इंडिया का 'सपना', ऐसे मचाई खलबली... देखें Video

मिचेल स्टार्क (Mitchell Starc) की पत्नी एलिसा हिली (Alyssa Healy) ने 75 रन की शानदार पारी खेली. 39 गेंद पर उन्होंने 7 चौके और 5 छक्के जड़े.

IND vs AUS: मिचेल स्टार्क की पत्नी ने 5 छक्के जड़कर तोड़ा टीम इंडिया का 'सपना', ऐसे मचाई खलबली... देखें Video

एलिसा हिली (Alyssa Healy) ने 75 रन की शानदार पारी खेली

नई दिल्‍ली:

Women T20 World Cup Final: आईसीसी महिला टी20 वर्ल्‍डकप का पहली बार चैंपियन बनने का भारत (Ind W Vs Aus W Final) का सपना पूरा नहीं हो सका. मेलबर्न में भारत और ऑस्ट्रेलिया (IND vs AUS) के बीच टी-20 वर्ल्ड कप फाइनल मुकाबला खेला गया. फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया के हाथों 85 रन की हार का सामना करना पड़ा. मिचेल स्टार्क (Mitchell Starc) की पत्नी एलिसा हिली (Alyssa Healy) ने 75 रन की शानदार पारी खेली. 39 गेंद पर उन्होंने 7 चौके और 5 छक्के जड़े. उन्होंने पहले विकेट के लिए बेथ मूनी (नाबाद 78 रन, 54 गेंद, 10 चौके) के साथ 115 रन की साझेदारी की बदौलत 20 ओवर में 4 विकेट खोकर 184 रन का विशाल स्‍कोर बनाया.

एलिसा हिली ने शिखा पांडे की गेंदों पर लगातार तीन छ्क्के जड़े और राजेश्वरी गायकवाड़ की गेंदों पर लगातार दो छक्के जड़े. उनके इन छक्कों को देखकर भारतीय गेंदबाज भी हैरान रह गईं. पत्नी एलिसा और ऑस्ट्रेलिया को सपोर्ट करने के लिए ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क स्टेडियम में आए थे.

देखें Video:

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

भारत के सामने जीत के लिए 185 रनों का टारगेट था जिसके दबाव में टीम की बल्‍लेबाजी पूरी तरह बिखर गई. पहले ही ओवर में 16 साल की ओपनर शेफाली वर्मा (2) आउट हो गईं. इसके बाद भी विकेट का सिलसिला लगातार जारी रहा. जेमिमा रॉड्र‍िग्‍स, स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत कौर जैसी स्‍टार बल्‍लेबाजों के सस्‍ते में आउट होने के साथ ही भारतीय टीम की हार लगभग तय हो गई थी. फाइनल के दिन भारतीय टीम पूरी तरह रंगहीन नजर आई और 19.1 ओवर में 99 रन बनाकर ढेर हो गई.

कप्‍तान हरमनप्रीत कौर के बर्थडे (8 मार्च) के दिन टीम को टूर्नामेंट में उपविजेता रहकर ही संतोष रहना पड़ा. वैसे फाइनल में भारतीय टीम हारी जरूर लेकिन टूर्नामेंट में अपने जबर्दस्‍त प्रदर्शन से उसने हर किसी को प्रभावित किया. ग्रुप मैचों में टीम ने अपने सभी मैच जीते. फाइनल में हार के बावजूद टूर्नामेंट के प्रदर्शन के लिए टीम निश्चित रूप से सराहना की हकदार है.