NDTV Khabar

शिवराज सिंह ने दिल्ली की राजनीति में जाने से किया इनकार, कहा- 'मेरी आत्मा मध्यप्रदेश में ही बसती है'

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव में बीजेपी की हार के लिए पूरी तरह वे खुद जिम्मेदार

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिवराज सिंह ने दिल्ली की राजनीति में जाने से किया इनकार, कहा- 'मेरी आत्मा मध्यप्रदेश में ही बसती है'

मध्यप्रदेश के निवृतमान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस्तीफा देने के बाद प्रेस से बात की.

खास बातें

  1. चौहान ने कहा- विपक्ष 109 विधायकों के साथ काफी मजबूत
  2. हम भरा-पूरा मध्यप्रदेश सौंप रहे हैं, कांग्रेस इसे आगे ले जाए
  3. इस बार बीजेपी को प्राप्त मत प्रतिशत बढ़ा लेकिन सीटें कम हो गईं
नई दिल्ली:

मध्यप्रदेश के निवृत्तमान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के विधानसभा चुनाव में बीजेपी की हार के लिए पूरी तरह वे खुद जिम्मेदार हैं. उन्होंने कहा है कि वे हरा-भरा प्रदेश सौंप रहे हैं. अब कांग्रेस की जिम्मेदारी है कि वह इसे आगे ले जाए. उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस 10 दिन में किसानों का कर्ज माफ करने का वादा अब पूरा करे.

शिवराज सिंह चौहान ने राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को इस्तीफा सौंपने के बाद भोपाल में संवाददाताओं से बात की. उन्होंने कहा कि विपक्ष भी मजबूत है. हमारे पास 109 विधायक हैं. मेरा काम है रचनात्मक सहयोग. चौकीदारी करने की जिम्मेदारी हमारी है.
 

विधानसभा चुनाव परिणाम 2018 : मध्य प्रदेश


चौहान ने कहा कि हम भरा-पूरा मध्यप्रदेश छोड़ रहे हैं. अब कांग्रेस इसे संभाले और आगे ले जाए. उन्होंने कांग्रेस को उसका वादा याद दिलाते हुए कहा कि 10 दिन में किसानों का कर्ज माफ करने का वादा पूरा करें. चौकीदारी का काम अब हमारा है.

यह भी पढ़ें : 'मामा' शिवराज सिंह चौहान को सत्ता से बेदखल करने में कांग्रेस को आया पसीना, ये हैं कारण..


उन्होंने कहा कि हम जनता के आभारी हैं. अध्यक्ष जी (अमित शाह) के नेतृत्व में हम सबने काम किया. उन्होंने कहा कि 2008 में हमने वोट 38 प्रतिशत प्राप्त किए थे. इस बार 40 प्रतिशत वोट मिले लेकिन सीटें 109 मिलीं. कई बार ऐसा बैलेंस बदल जाता है. हम बहुमत प्राप्त नहीं कर सके, अपेक्षित सफलता भी प्राप्त नहीं कर सके. अगर इसके लिए कोई जिम्मेदार है तो शिवराज सिंह है. मैं पूरी तरह हूं जिम्मेदार.

बीजेपी की विपक्ष की भूमिका को लेकर किए गए सवाल पर शिवराज ने कहा कि हम चुप बैठने वालों में से नहीं हैं. विपक्ष के नेता की भूमिका में आने के सवाल पर उन्होंने कहा कि विपक्ष का नेता कौन होगा, यह पार्टी तय करेगी, लेकिन हम नेता तो हैं ही. उन्होंने कहा कि अगला कदम 2019 का लोकसभा चुनाव जीतने की तैयारी है. केंद्र में मोदी के नेतृत्व में सरकार बनेगी. उनसे जब पूछा गया कि क्या अब केंद्र में जाएंगे, तो उन्होंने कहा कि मेरी आत्मा मध्यप्रदेश में ही बसती है.

मोदी या शाह द्वारा हार की जिम्मेदारी लेने के सवाल पर चौहान ने कहा कि सवाल ही नहीं, यह प्रदेश का मुद्दा था.
उनसे भविष्य में अविश्वास प्रस्ताव लाने संबंधी प्रश्न किया गया तो उन्होंने कहा आगे-आगे देखिए होता है क्या.

यह भी पढ़ें : अटल बिहारी वाजपेयी की इस कविता को याद कर बोले शिवराज, हार की जिम्मेदारी सिर्फ और सिर्फ मेरी

मध्यप्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष राकेश सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जनता ने स्पष्ट मत नहीं दिया. बीजेपी को 41 प्रतिशत मत मिले. बीजेपी का कांग्रेस से ज्यादा मत प्रतिशत है. हम जनता के निर्णय का सम्मान करते हैं. बीजेपी  कार्यकर्ताओं का आभार जताते हुए उन्होंने कहा कि पूरा देश जानता है कि बीजेपी के कार्यकर्ता पूरी निष्ठा के साथ काम करते हैं.

राकेश सिंह ने कहा कि बीजेपी समाज कल्याण के काम में पहले की तरह ही लगी रहेगी. कांग्रेस को भी स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है. उन्होंने कहा कि राज्यपाल को शिवराज सिंह ने आज अपना इस्तीफा सौंपा है. बीजेपी ने जो कार्य शिवराज सिंह के नेतृत्व में राज्य में किए हैं उसकी मिसाल किसी और राज्य में नहीं मिलती. कांग्रेस को जीत की बधाई. आशा है कि हमारे किए काम को कांग्रेस आगे बढ़ाएगी.

VIDEO : NDTV की ज्योतिरादित्य सिंधिया से खास बातचीत

टिप्पणियां

इससे पहले शिवराज सिंह चौहान ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को इस्तीफा सौंपने के बाद कहा कि ''अब मैं मुक्त हूं. आई एम फ्री. मैंने अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया. इस हार की समूची जिम्मेदारी मेरी है. मैंने कमलनाथ जी को बधाई दी है.''



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement