NDTV Khabar

सरकारी कर्मचारियों को कमलनाथ की चेतावनी: मेरी चक्की चलती है देर से, पर बहुत बारीक पीसती है

मध्य प्रदेश की जनता एक बार फिर से जनादेश देने को तैयार है. मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव  (Madhya Pradesh Assembly Election 2018) की रणभेरी बज चुकी है और राज्य में 28 नवंबर को चुनाव होने हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सरकारी कर्मचारियों को कमलनाथ की चेतावनी: मेरी चक्की चलती है देर से, पर बहुत बारीक पीसती है

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव: कमलनाथ ने अधिकारियों को चेताया

नई दिल्ली:

मध्य प्रदेश की जनता एक बार फिर से जनादेश देने को तैयार है. मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव  (Madhya Pradesh Assembly Election 2018) की रणभेरी बज चुकी है और राज्य में 28 नवंबर को चुनाव होने हैं. एक ओर जहां बीजेपी 15 साल के राज को चौके में तब्दील करने में जुटी है, वहीं कांग्रेस 15 साल के सूखे को खत्म करना चाहती है. यही  वजह है कि दोनों ओर से रैलियों और बयानबाजियों का दौर अपने चरम पर है. मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रमुख कमलनाथ (Kamal Nath) ने आरोप लगाया कि राज्य में कुछ सरकारी कर्मचारियों का भाजपा से गुप्त लगाव है. साथ ही, उन्होंने चेतावनी दी कि उनकी पार्टी के सत्ता में आने पर इन लोगों को ‘कोपभाजन' बनने के लिए तैयार रहना चाहिए. 

मध्‍य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 : बीजेपी को झटका, कांग्रेस में शामिल हुए शिवराज सिंह के साले


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विधानसभा क्षेत्र में अपनी पहली रैली को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने कहा, ‘कमलनाथ की चक्की चलती है देर से, पर बहुत बारीक पीसती है.' कांग्रेस नेता कमलनाथ ने आरोप लगाया कि कुछ सरकारी अधिकारी भाजपा का समर्थन कर रहे हैं जो पिछले 15 साल से शासन में है. उन्होंने पुलिस अधिकारियों को भी आगाह करते हुए कहा कि उन्हें अपनी वर्दी का सम्मान करना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘याद रखना, 11 के बाद 12 (12 दिसंबर) भी आता है.' कमलनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चौहान पर प्रहार करते हुए कहा कि नर्मदा और गंगा नदियों को साफ करने के बजाय उन्होंने बैंकों को साफ कर दिया. 

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 : कांग्रेस ने 16 प्रत्याशियों की दूसरी सूची जारी की, जानें किस-किस को मिला टिकट

मंगलवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव को बड़ा मुकाबला बताते हुए कहा कि वह राज्य में अपनी पार्टी को सत्ता में लाने के लिए बेताब हैं. कांग्रेस पांच करोड़ मतदाता वाले इस विशाल राज्य में साल 2003 से सत्ता से बाहर है. भाजपा ने कांग्रेस को सत्ता से बाहर किया था. कांग्रेस सत्ता से भाजपा को हटाने के लिए तमाम कोशिश कर रही है और विधानसभा की 230 सीटों के लिए 28 नवंबर को होने वाले चुनाव के लिए आक्रामक प्रचार कर रही है. भाजपा ने राज्य में विधानसभा के अंतिम चुनाव में 44.88 प्रतिशत वोट के साथ 165 सीटें जीती थी जबकि 42.67 प्रतिशत वोट के साथ कांग्रेस को महज 58 सीटें मिली थी.

जब राहुल गांधी ने कमलनाथ को कहा- कमल, तुम भी आइसक्रीम खाओ, तो शिवराज ने ऐसे बोला हमला

टिप्पणियां

बता दें कि मध्य प्रदेश में कुल 230 सीटे हैं, जिनमें एससी के लिए आरक्षित सीटें- 35, एसटी के लिए आरक्षित सीटें- 47 हैं. 

मध्य प्रदेश का चुनाव कार्यक्रम

  • अधिसूचना जारी होगी-02.11.2018
  • नामांकन की आखिरी दिन- 09.11.2018 
  • नामांकन की जांच- 12.11.2018
  • नामांकन वापस लेने का आखिरी दिन- 14.11.2018 
  • मतदान की तारीख- 28.11.2018 
  • नतीजे आएंगे- 11.12.2018 
VIDEO: मिशन 2019 इंट्रो: मायावती को कांग्रेस पर क्यों आया गुस्सा?


NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement