NDTV Khabar

बिहार: वायरल हो रही 3 महीने के बच्चे के शव की फोटो, आखिर क्या है इस मामले की सच्चाई?

मुजफ्फरपुर के शिवाईपट्टी थाना के शीतलपट्टी गांव से नदी में डूबे एक बच्चे की तस्वीर वायरल हो रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार: वायरल हो रही 3 महीने के बच्चे के शव की फोटो, आखिर क्या है इस मामले की सच्चाई?

3 महीने के बच्चे के शव की फोटो वायरल हो रही है

खास बातें

  1. नदी में डूबने से हुई 3 बच्चों की मौत
  2. वायरल हुई 3 महीने के बच्चे के शव की फोटो
  3. केस में सामने आईं 2 विरोधी बातें
बिहार:

बाढ़ ने पूरे बिहार में तबाही मचाई हुई है. लगभग सभी नदियां उफान पर हैं. इस बीच मुजफ्फरपुर के शिवाईपट्टी थाना के शीतलपट्टी गांव से नदी में डूबे एक बच्चे की तस्वीर वायरल हो रही है. एक ओर कहा जा रहा है कि बच्चे की मौत डूबने से हुई, वहीं इस मामले में कुछ विरोधी बातें भी सामने आ रही हैं. मामला यह बताया जा रहा है कि शीतलपट्टी के शीतलपुर निवासी शत्रुघ्न राम की पत्नी रीना देवी बागमती नदी के किनारे कपड़े धोने और नहाने गई थीं. रीना देवी के साथ उनके 4 बच्चे भी गए थे जो नदी के किनारे खेल रहे थे. अचानक उनका एक बच्चा पानी में फिसल गया.

मायावती के भाई पर आयकर विभाग का शिकंजा, 400 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त

बच्चे को बचाने के लिए मां और बाकी तीनों बच्चे भी पानी में कूद पड़े लेकिन तेज बहाव में वे सब डूबने लगे. स्थानीय लोगों ने उन्हें समय रहते देख लिया जिससे रीना देवी और उनकी एक बेटी राधा को लोगों ने बचा लिया, लेकिन तमाम कोशिशों के बाद भी 3 बच्चे अर्जुन, राजा और ज्योति को बाहर नहीं निकाला जा सका.


घटना वाले दिन शाम को किसी तरह तीनों बच्चों के शव को पानी से निकाला जा सका. इनमें से एक 3 महीने के बच्चे की तस्वीर भी सामने आई है. उसका नाम अर्जुन है. घटना के बाद रीना और उसके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. घटना से गांव में मातम पसरा हुआ है. 

कुछ ऐसा था नेल्‍सन मंडेला का जीवन, जेल में काटे 27 साल, कोयला खदान में किया काम और फिर बने राष्ट्रपति

स्थानीय लोगों का कहना है कि सिवाईपट्टी थाना क्षेत्र के सीतलपट्टी गांव की रीना देवी मंगलवार दोपहर अपने चार बच्चों के साथ बागमती की पुरानी धारा में स्नान करने गयी थी. नदी किनारे वह कपड़ा धोने लगीं. इसी बीच तीन महीने का सबसे छोटा बेटा नदी में गिर गया. बेटे को बचाने के लिए रीना गहरे पानी में उतर गईं और डूबने लगीं. 

मां को डूबते देख उसके बाकी तीन बच्चे नदी में उतर गए और सभी गहरे पानी में चले गए. नदी में स्नान करने आए लोगों ने सभी को डूबते देख शोर मचाया. आवाज सुनकर पहुंचे ग्रामीणों ने रीना और उसकी बेटी को पानी से बाहर निकाल लिया, बाकी तीन डूब गए. 

AAP सरकार का दिल्लीवासियों को तोहफा: CM केजरीवाल बोले- अब वैध होंगी कच्ची बस्तियां, मालिकाना हक का सपना होगा पूरा

टिप्पणियां

वहीं इस मामले में डीएम का कहना है, 'ग्रामीणों के द्वारा और रीना की 7 साल की बच्ची ने जो बताया उसके मुताबिक रीना देवी का अपने पति के साथ विवाद हुआ था. जिसके बाद रीना ने बच्चों को पानी में फेंक दिया था. गांव वालों ने जब देखा तो उन्होंने बच्चों और रीना देवी को पानी से बाहर निकाला. इस मामले में कोई मुआवजे का ऐलान नहीं किया गया है क्योंकि यह एक अपराध का मामला है. इसका बाढ़ से कोई लेना-देना नहीं है. इसे हत्या करने का प्रयास माना जा सकता है.' 

फिलहाल इस मामले में रीना देवी के खिलाफ एक प्राथमिकी भी दर्ज हुई है. वहीं रीना के पति का कहना है कि पिछले महीने उसे चमकी बुखार भी हुआ था और उसका इलाज मुजफ्फरपुर में चला था और उसका व्यवहार सामान्य नहीं था. 
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement