पटना में रैली के साथ लोकसभा के चुनाव अभियान की शुरुआत करेगा एनडीए, पीएम मोदी के साथ मंच साझा करेंगे नीतीश

इस रैली के बारे में जनता दल यूनाईटेड (जेडीयू) ने सैद्धांतिक रूप से अपनी सहमति दे दी है और BJP के नेताओं के साथ किस तिथि को इसका आयोजन किया जाये इस पर विचार विमर्श चल रहा है.

पटना में रैली के साथ लोकसभा के चुनाव अभियान की शुरुआत करेगा एनडीए, पीएम मोदी के साथ मंच साझा करेंगे नीतीश

पीएम नरेंद्र मोदी के साथ नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

पटना:

बिहार में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) अपने लोकसभा चुनाव अभियान का श्रीगणेश एक विशाल रैली से करेगा. हालांकि इसकी तिथि की घोषणा अभी नहीं की गई है लेकिन संभवत: 24 फ़रवरी या तीन मार्च को इस रैली का आयोजन किया जायेगा. इस रैली के बारे में जनता दल यूनाईटेड (जेडीयू) ने सैद्धांतिक रूप से अपनी सहमति दे दी है और BJP के नेताओं के साथ किस तिथि को इसका आयोजन किया जाये इस पर विचार विमर्श चल रहा है. यह पहला मौक़ा होगा जब राजनीतिक मंच से बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक बार फिर प्रधानमंत्री बनाने के लिए उनके कामकाज की तारीफ़ करने के अलावा लोगों से वोट देने की अपील भी करेंगे.

नीतीश कुमार ने 2017 के जुलाई महीने में जब से BJP के साथ एक बार फिर से सरकार बनाई है तब से कई बार संवाददाता सम्मेलन में और कुछ सरकारी कार्यक्रमों में उन्होंने इस बात का दावा सार्वजनिक रूप से किया है कि अगली बार फिर जनता जनादेश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में देगी. लेकिन यह पहला मौक़ा होगा जब नीतीश नरेंद्र मोदी के साथ राजनीतिक मंच साझा करेंगे.

चिराग पासवान बोले, राम मंदिर मुद्दे को बेवजह तूल न दे NDA, चुनाव में हो सकता है नुकसान

नीतीश कुमार ने 2005 के बिहार विधानसभा चुनाव से लेकर 2010 तक BJP के साथ यह एक अलिखित शर्त रखी हुई थी कि बिहार के चुनावों में उस समय के गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रचार की कोई ज़रूरत नहीं है इसलिए उन्हें चुनाव से अलग रखा जाता था. लेकिन 2013 जून में जब नीतीश ने BJP का साथ छोड़ा, उसके बाद पहली बार अक्टूबर महीने में नरेंद्र मोदी ने पटना के गांधी मैदान से ही अपने लोकसभा चुनाव के अभियान की शुरुआत की थी. उसी रैली के दौरान बम ब्लास्ट में कई लोगों की जानें गईं और भारतीय जनता पार्टी को पूरे देश में इसका भरपूर लाभ मिला.

जेडीयू ने कहा- राम मंदिर मुद्दे पर हमारा रुख नहीं बदला, बीजेपी ने कहा- विकास पर मतभेद नहीं

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

रैली में बिहार में गठबंधन के तीसरे घटक दल लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास पासवान और उनके पुत्र चिराग पासवान भी मौजूद रहेंगे. जहां तक तिथि का सवाल है तो भारतीय जनता पार्टी के नेताओं का कहना है कि फ़िलहाल 2 संभावित तिथियों पर विचार किया जा रहा है. या तो यह रैली 24 फ़रवरी को होगी या 3 मार्च को इसका भव्य आयोजन किया जाएगा. माना जा रहा है कि मार्च के पहले हफ़्ते में लोकसभा चुनाव की तिथियों की घोषणा की जाएगी.

VIDEO: 2019 में किसका पलड़ा भारी?