NDTV Khabar

अटल बिहारी वाजपेयी ने किताब के लोकार्पण पर दी थी हिदायत, 'राजनेताओं के चक्कर में मत पड़ो बेटा...'

अपने पहले कविता संग्रह 'यदा-कदा' के विमोचन का आग्रह लेकर पहली बार उनसे लखनऊ में अपने पिता बिमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र और लालजी टण्डन के साथ मिला था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अटल बिहारी वाजपेयी ने किताब के लोकार्पण पर दी थी हिदायत, 'राजनेताओं के चक्कर में मत पड़ो बेटा...'

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. अटल बिहारी वाजपेयी का निधन
  2. लोकार्पण के लिए दी थी ये हिदायत
  3. पढ़ें यतीन्द्र मिश्रा का संस्मरण
नई दिल्ली:

अपने पहले कविता संग्रह 'यदा-कदा' के विमोचन का आग्रह लेकर पहली बार उनसे लखनऊ में अपने पिता बिमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र और लालजी टण्डन के साथ मिला था. यह 1997 की बात है. तब मैं बीस साल का था, अटल जी के भाषणों और उनके उदार व्यक्तित्व से प्रभावित. उन्होंने बड़े प्यार से मुलाकात की. अटल बिहारी वाजपेयी ने संग्रह देखा और हिदायत दी- 'बेटा, मैं चाहता हूं कि आप इसे किसी साहित्य के विद्वान से, सीनियर कवि से लोकार्पित कराएं. मेरा निजी मत यह है कि एक कवि को, एक उभरते हुए नवोदित लेखक को राजनेताओं के चक्कर में नहीं पड़ना चाहिए और न ही किसी विचारधारा के हिमायती से किताब का अनुमोदन कराना चाहिए.'

अटल बिहारी वाजपेयी वाणी ही नहीं कलम के भी हैं जादूगर, जब जोश में बोले- मस्तक नहीं झुकेगा...

पूर्व प्रधानमंत्री ने आगे कहा था, 'आपका बहुत मन होगा, तो मैं लोकार्पण कर दूंगा, मगर इससे आपकी छवि सही ढंग से समाज में नहीं जाएगी. आप पर राजनीतिक छाया देखी जाएगी, जो किसी भी नए रचनाकार के लिये उचित नहीं. मैं आशीर्वाद देता हूं कि ख़ूब बढ़िया लिखिए, मगर स्वतंत्र होकर लिखिए. किसी भी राजनीतिक दल का स्टैम्प आप पर नहीं लगना चाहिए. ये आपके स्वतंत्र निर्माण में बहुत काम आएगा.' 


ये कहकर उन्होंने संग्रह की एक दो कविताएं पढ़ीं. उनको सराहा और अपनी किताब 'मेरी इक्यावन कविताएं' भेंट में हस्ताक्षर करके दीं.

अटल बिहारी वाजपेयी का निधन, जब लता मंगेशकर की इस बात पर खूब हंसे थे पूर्व PM 

टिप्पणियां

उसके बाद से मैंने कभी किसी किताब को राजनेताओं से लोकार्पित कराने के बारे में सोचा ही नहीं. हालांकि मेरा खुद अटल बिहारी के अलावा किसी और को लेकर कभी ये मंशा नहीं रही कि मैं अमुक कृति को किसी ख़ास व्यक्ति से लोकार्पण के लिए आग्रह करूं. अटल की दी हुई नसीहत पर ही आज तक चलता रहा हूं. आज तक वही निभाने का प्रयास है. बाद में, मेरा पहला संग्रह पं विद्यानिवास मिश्र ने लोकार्पित किया, जो मेरे गुरु भी थे.

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement