NDTV Khabar

'पद्मावती' के विरोध में उतरीं उमा भारती, कहा- भंसाली लोगों की भावनाओं का ध्यान रखें

उमा भारती ने ट्विटर पर लिखा, "निर्देशक और पटकथा लेखक के तौर पर काम कर रहे भंसाली के सहयोगी इसकी कहानी के प्रति जिम्मेदार हैं. उनको लोगों की भावनाओं और ऐतिहासिक तथ्यों का ख्याल रखना चाहिए."

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'पद्मावती' के विरोध में उतरीं उमा भारती, कहा- भंसाली लोगों की भावनाओं का ध्यान रखें

1 दिसंबर को रिलीज होगी 'पद्मावती'

खास बातें

  1. भंसाली को लोगों की भावनाओं का ध्यान रखना चाहिए : उमा भारती
  2. "फिल्म 'पद्मावती' की अभिनेत्री या अभिनेता का अनादर 'अनैतिक' है"
  3. भंसाली और उनके सहयोगी कहानी के प्रति जिम्मेदार हैं : उमा भारती
नई दिल्ली: संजय लीला भंसाली की आगामी फिल्म 'पद्मावती' को लेकर विरोध जारी है. कोई फिल्म के समर्थन में खड़ा है, तो कोई इसका जमकर विरोध कर रहा है. अब गुरुवार को केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने फिल्म 'पद्मावती' के निर्देशक संजय लीला भंसाली पर राजपूत समुदाय की भावनाओं की परवाह न करने का आरोप लगाते हुए उन पर जोरदार हमला किया. हालांकि उन्होंने कहा कि अभिनेत्री दीपिका पादुकोण का अनादर 'अनैतिक' है. राजपूत संगठन करणी सेना ने धमकी दी है कि "अगर यह फिल्म रिलीज हुई, तो शूर्पणखा की तरह दीपिका की नाक काट ली जाएगी." करणी सेना को भाजपा के कई नेताओं का समर्थन प्राप्त है. 

पढ़ें: करणी सेना ने दी धमकी, 'दीपिका पादुकोण का करेंगे वो हश्र जो लक्ष्‍मण ने शूर्पणखा का किया था'

उमा भारती ने श्रृंखलाबद्ध ट्वीट में कहा, "यदि हम पद्मावती के आदर के बारे में बात कर रहे हैं, तो यह हमारा नैतिक दायित्व है कि हर महिला का आदर करें." उन्होंने कहा, "फिल्म 'पद्मावती' की अभिनेत्री या अभिनेता का अनादर 'अनैतिक' है."
पढ़ें: 'पद्मावती' एक दिसम्‍बर को रिलीज होने पर भंग हो सकती है शांति व्‍यवस्‍था, यूपी सरकार ने चेताया

केंद्रीय मंत्री ने फिल्म देखे बिना भंसाली की कड़ी निंदा करते हुए कहा, "निर्देशक और पटकथा लेखक के तौर पर काम कर रहे उनके सहयोगी इसकी कहानी के प्रति जिम्मेदार हैं. उनको लोगों की भावनाओं और ऐतिहासिक तथ्यों का ख्याल रखना चाहिए." यह फिल्म अभी सेंसर बोर्ड को भेजी गई है. रिलीज होने की तारीख 1 दिसंबर तय है. पढ़ें: क्या फिल्म 'पद्मावती' के प्रमोशन से नाखुश हैं शाहिद कपूर? जानें

टिप्पणियां
भाजपा की सांसद ने कहा कि उन्हें भरोसा दिया गया है कि सेंसर बोर्ड उठाए गए सभी मुद्दों का पर ध्यान रखेगा. उमा भारती ने कहा, "मुझे भरोसा है कि उन्हें (सेंसर बोर्ड) पहले ही लोगों द्वारा उठाई गई चिंताओं के बारे में सूचित कर दिया गया है."
  उन्होंने कहा, "फिल्म सेंसर बोर्ड एक स्वतंत्र संस्था है. हमें उम्मीद है कि फिल्म को लोगों की भावनाओं पर विचार करते हुए मंजूरी दी जाएगी." पेयजल व स्वच्छता मंत्री की यह टिप्पणी श्री राजपूत करणी सेना द्वारा पहली दिसंबर को भारत बंद का ऐलान किए जाने के एक दिन बाद आई है. 

VIDEO: फिल्म 'पद्मावती' के खिलाफ प्रदर्शन ...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...
(इनपुट: IANS)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement