NDTV Khabar

'पद्मावती' के मेकर्स की इस हरकत से नाराज सेंसर बोर्ड अध्यक्ष, क्या तय समय पर होगी रिलीज?

सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी के मुताबिक, "यह निराशाजनक है कि बोर्ड के फिल्म देखने और प्रमाण पत्र जारी करने से पहले मीडिया के लिए फिल्म की स्क्रीनिंग रखी गई और राष्ट्रीय चैनलों पर इसकी समीक्षा की जा रही है."

219 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
'पद्मावती' के मेकर्स की इस हरकत से नाराज सेंसर बोर्ड अध्यक्ष, क्या तय समय पर होगी रिलीज?

रानी पद्मावती का किरदार निभाएंगी दीपिका पादुकोण.

खास बातें

  1. 'पद्मावती' के रिलीज पर लटकी तलवार
  2. बिना बोर्ड को दिखाए, प्राइवेट स्कीनिंग रखने से खफा अध्यक्ष
  3. तकनीकी कमियों की वजह से बोर्ड ने लौटा चुका फिल्म का एप्लिकेशन
नई दिल्ली: फिल्म 'पद्मावती' की मुश्किलें कुछ और बढ़ गई हैं. करणी सेना के विरोध प्रदर्शन के बीच अब सेंसर बोर्ड फिल्मकार से नाराज हैं. सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन ने इस बात पर आपत्ति जताई है. दरअसल, सेंसर बोर्ड के फिल्म देखने और सर्टिफिकेशन देने से पहले कुछ लोगों के लिए फिल्म की प्राइवेट स्क्रीनिंग रखे जाने की बोर्ड मेंबर्स नाराज हैं. बोर्ड के प्रमुख प्रसून जोशी ने नाराजगी जताते हुए कहा कि ऐसा करके निर्माता ने नियमों का उल्‍लंघन किया है.

पढ़ें: सेंसर बोर्ड ने अभी तक नहीं देखी फिल्म, 'पद्मावती' की रिलीज में होगी देरी!

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में उन्होंने कहा, "यह निराशाजनक है कि बोर्ड के फिल्म देखने और प्रमाण पत्र जारी करने से पहले मीडिया के लिए फिल्म की स्क्रीनिंग रखी गई और राष्ट्रीय चैनलों पर इसकी समीक्षा की जा रही है. 'पद्मावती' के मेकर्स एक तरफ सेंसर बोर्ड पर प्रमाणन प्रक्रिया में तेजी लाने का दबाव डाल रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ इस पूरी प्रक्रिया को ही कमतर आंककर एक अवसरवादी उदाहरण पेश कर रहे हैं."

पढ़ें: 'पद्मावती' के विरोध में चित्तौड़गढ़ किला बंद, धरने पर बैठे हैं सैकड़ों लोग

गौरतलब है कि सेंसर बोर्ड ने फिल्म 'पद्मावती' को देखने से फिलहाल इंकार कर दिया. तकनीकी कमियों का हवाला देते हुए बोर्ड ने फिल्म का एप्लिकेशन वापस भेज दिया है. प्रसून जोशी ने कहा, "रिव्यू के लिए इसी हफ्ते फिल्म का आवेदन बोर्ड को मिला. मेकर्स ने खुद माना कि एप्लिकेशन अधूरा था. फिल्म काल्पनिक है या ऐतिहासिक इसका डिसक्लेमर तक अंकित नहीं किया गया था. ऐसे में बोर्ड पर प्रक्रिया को टालने का आरोप लगाना सरासर गलत है."
'पद्मावती' को शुरुआत से ही कड़े विरोध का सामना करना पड़ रहा है और फिल्म के निर्माताओं और कलाकारों को प्रदर्शनकारी संगठनों ने शारीरिक नुकसान पहुंचाने की भी धमकी दी है. उनका कहना है कि वे राजपूत इतिहास की विकृतियों को नहीं दिखाने देंगे. सत्तारूढ़ भाजपा ने भी कहा है कि फिल्म निर्माताओं को ऐतिहासिक तथ्यों को विकृत नहीं करना चाहिए. अधिकांश विरोध प्रदर्शन राजस्थान में हुए है, लेकिन कुछ मुंबई में भी हुए हैं.

पढ़ें: 'पद्मावती' के विरोध में उतरीं उमा भारती, कहा- भंसाली लोगों की भावनाओं का ध्यान रखें

यह फिल्म एक दिसंबर को रिलीज होनी है. इस सप्ताह की शुरुआत में दीपिका ने आईएएनएस से कहा था, "हम केवल सेंसर बोर्ड के प्रति उत्तरदायी हैं और मैं जानती हूं और मेरा मानना है कोई भी चीज इस फिल्म की रिलीज को नहीं रोक सकती."

VIDEO: फिल्म 'पद्मावती' के खिलाफ प्रदर्शन...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement