NDTV Khabar

'महाभारत' विवाद: फ्रेंच जर्नलिस्ट पर भड़के जावेद अख्तर, कहा- 'जब मेरी तनख्वाह 50 रुपए थी...'

मशहूर पटकथा लेखक ने बुधवार को कट्टरपंथियों को भारतीय सिनेमा में सांप्रदायिकता न फैलाने को आगाह करते हुए, सिनेमा जगत को धर्मनिरपेक्षता का गढ़ करार दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'महाभारत' विवाद: फ्रेंच जर्नलिस्ट पर भड़के जावेद अख्तर, कहा- 'जब मेरी तनख्वाह 50 रुपए थी...'

जावेद अख्तर (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 'महाभारत' में आमिर खान
  2. फ्रेंच पत्रकार ने उठाया सवाल
  3. जावेद अख्तर ने दिया करारा जवाब
नई दिल्ली: मशहूर पटकथा लेखक ने बुधवार को कट्टरपंथियों को भारतीय सिनेमा में सांप्रदायिकता न फैलाने को आगाह करते हुए, सिनेमा जगत को धर्मनिरपेक्षता का गढ़ करार दिया. भारतीय मूल के फ्रेंच पत्रकार फ्रांको गौतियर के महाभारत पर फिल्म बनाने और उसमें आमिर के कृष्ण की भूमिका निभाने की खबरों पर प्रतिक्रिया देने के बाद 73 वर्षीय गीतकार एवं लेखक ने यह टिप्पणी की है. अपने ट्वीट में गौतियर ने आमिर खान के मुसलमान होने को रेखांकित करते हुए उनके हिंदू महाकाव्य महाभारत में किरदार निभाने पर सवाल उठाया था.

लाउडस्पीकर मामले को लेकर सोनू निगम के सपोर्ट में आए जावेद अख्तर, ट्विटर पर दिया ये बयान
अख्तर ने गौतियर का नाम लिए बिना ट्वीट किया, ''मैं इस इंडस्ट्री में वर्ष 1965 में आया था जब मेरी तनख्वाह 50 रुपए थी. मैंने इन 53 वर्षों में कभी भी किसी सांप्रदायिक तत्व को न देखा और न ऐसा कुछ अनुभव किया.'' उन्होंने कहा, ''भारतीय सिनेमा जगत धर्मनिरपेक्षता का गढ़ है, कट्टरपंथी लोग इसे दूषित न करें.''

बता दें कि हाल ही में मीडिया में एक खबर आई थी कि 'महाभारत' की सीरीज बनने के दौरान आमिर खान इसमें कृष्ण की भूमिका निभाएंगे. हालांकि की इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.

VIDEO: जावेद अख्तर के साथ उर्दू शायरी और हिंदी सिनेमा पर बात


टिप्पणियां
(इनपुट भाषा से)

 ...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement