NDTV Khabar

MeToo: बॉलीवुड की 11 महिला डायरेक्टर ने उठाया ये कड़ा कदम, बोले- 'दोषी साबित होने वाले लोगों के साथ...'

भारतीय फिल्म इंडस्ट्री से महिला फिल्मकारों ने यौन उत्पीड़न की अपनी कहानियों को साझा करने वाले लोगों का समर्थन करने और दोषी साबित होने वाले किसी के साथ भी काम नहीं करने का फैसला किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
MeToo: बॉलीवुड की 11 महिला डायरेक्टर ने उठाया ये कड़ा कदम, बोले- 'दोषी साबित होने वाले लोगों के साथ...'

कोंकणा सेन शर्मा (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बॉलीवुड के महिला डायरेक्टर्स का बड़ा फैसला
  2. दोषीसिद्ध कलाकारों के साथ नहीं करेंगे काम
  3. कोंकणा, जोया समेत 11 निर्देशक
नई दिल्ली: भारतीय फिल्म इंडस्ट्री से महिला फिल्मकारों ने यौन उत्पीड़न की अपनी कहानियों को साझा करने वाले लोगों का समर्थन करने और दोषी साबित होने वाले किसी के साथ भी काम नहीं करने का फैसला किया है. कोंकणा सेना शर्मा, नंदिता दास, मेघना गुलजार, गौरी शिंदे, किरण राव, रीमा कागती और जोया अख्तर जैसी कई निर्देशक उन 11 महिला फिल्म निर्माताओं में शामिल हैं जिन्होंने भारत के मी टू अभियान को अपना समर्थन देने की प्रतिबद्धता जाहिर की है. 

निर्देशकों द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है, ‘‘महिला और फिल्म निर्माताओं के रूप में, हमने #मी टू इंडिया अभियान को अपना समर्थन देने का फैसला किया है. हम उन महिलाओं के साथ पूरी एकजुटता के साथ खड़े हैं जो यौन उत्पीड़न के मामलों को लेकर पूरी ईमानदारी के साथ आगे आई हैं.’’

MeToo: यौन उत्पीड़न का आरोप झेल रहे लव रंजन के बचाव में आयीं ये बॉलीवुड एक्ट्रेस

 
बयान में कहा गया है,‘‘हम कार्यस्थल में सभी के लिए एक सुरक्षित और समान वातावरण बनाने में मदद के लिए जागरूकता फैलाने के लिए यहां हैं. हमने दोषी साबित होने वाले लोगों के साथ काम न करने का भी रूख अपनाया है. हम उद्योग में अपने सभी सहकर्मियों से भी ऐसा करने के लिए आग्रह करते हैं.’’ महिला फिल्म निर्माताओं की इस सूची में अलंकृता श्रीवास्तव, नित्या मेहरा, रूचि नारायण और सोनाली बोस शामिल हैं.

टिप्पणियां
...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...

(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement