NDTV Khabar

Movie Review: जबरदस्त थ्रिलर फिल्म है 'मॉनसून शूटआउट', नवाजुद्दीन और विजय का शानदार अभिनय

इस हफ्ते बॉक्स ऑफिस पर फिल्म 'मॉनसून शूटआउट' रिलीज हुई है. फिल्म के स्टार कास्ट नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी, विजय वर्मा, नीरज कबी, तनिष्ठा चैटर्जी, स्रीजिता डे और गितांजलि थापा हैं.

253 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
Movie Review: जबरदस्त थ्रिलर फिल्म है 'मॉनसून शूटआउट', नवाजुद्दीन और विजय का शानदार अभिनय
नई दिल्ली: इस हफ्ते बॉक्स ऑफिस पर फिल्म 'मॉनसून शूटआउट' रिलीज हुई है. फिल्म के स्टार कास्ट नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी, विजय वर्मा, नीरज कबी, तनिष्ठा चैटर्जी, स्रीजिता डे और गितांजलि थापा हैं. फ़िल्म की कहानी आदि (विजय वर्मा) की पुलिस की नौकरी के पहले दिन से शुरू होती है. जहां उसकी मां, उसके पिता द्वारा दी गई सीख पर चलने को कहती है. उसके पिता के मुताबिक दुनिया में तीन रास्ते होते हैं। एक अच्छा, एक बुरा और एक बीच का. पिता की यही सीख आदि के आड़े आती है जब वो अपने पहले दिन ही एक क्रिमिनल शिवा (नवाज़ुद्दीन) का पीछा करते हुए उसे मारने के लिए उसपर बंदूक तानता है. लेकिन क्या वो पिता की दी गई सीख पर चल पाएगा.. या ज़िंदगी की वास्तविकता कुछ और ही है? ये आपको फ़िल्म देखकर ही पता चलेगा.

पढ़ें: Monsoon Shootout के ट्रेलर में आपके इशारों पर चलेंगे नवाजुद्दीन सिद्दीकी

खूबियां
फ़िल्म की सबसे बड़ी ख़ूबी है इसका कसा हुआ स्क्रीनप्ले, फ़िल्म का ट्रीटमेंट...जहां तीनों नज़रियों को बड़ी ख़ूबसूरती ये फ़िल्माया गया है. पहले नज़रिए के बाद मुझे समझ आया कि हम किरदार के बाकी दोनों नज़रिए भी देखने वाले हैं पर आप दृश्यों के साथ इतना बंध जाते हैं कि भूल सकते हैं कि ये आदि की सिर्फ़ कल्पनाएं हैं. फ़िल्म की एक और खूबी है किरदारों का अभिनय. विजय वर्मा को दाद देना चाहूंगा जिन्होंने बहुत सधा हुआ और सहज अभिनय किया है. अपने किरदार में उन्होंने ज़रा सी भी चूक नहीं की. वहीं, नवाज़ुद्दीन की अगर बात करें तो वो भी ज़ोरदार परफ़ॉर्मेंस देते दिख रहे हैं. इस बार वो अपने पिछले कुछ किरदारों से ज़रा हटकर हैं.

पढ़ें: Video: नवाजुद्दीन सिद्दीकी की ‘मानसून शूटआउट’ का ‘अंधेरी रात में दीया...’ सॉन्ग रिलीज

खामियां
फ़िल्म का ट्रीटमेंट कुछ इस तरह का है कि कुछ लोगों को इसके कुछ हिस्से दोहराए हुए लग सकते हैं क्योंकि फ़िल्म अच्छे-बुरे और बीच के रास्ते जैसे तीनों नज़रियों को दर्शाती है. हालांकि मुझे इससे कोई परहेज़ नहीं है. मेरा सवाल सिर्फ़ इतना है कि आदि का किरदार इन तीनों नज़रियों के बारे में कल्पना कर सकता है पर सिर्फ़ तब, जब वो खुद वहां उपस्थित हो पर उनके साथ घट रहीं घटनाओं की बारीकियां आदि कैसे देख सकता है जहां वो मौजूद ही नही.

टिप्पणियां
VIDEO: 'बाबूमोशाय बंदूकबाज' के कलाकारों से खास मुलाकात

बता दें कि फिल्म के राइटर और डॉयरेक्टर अमित कुमार हैं. तो वहीं म्यूजिक आतिफ अफजल और जिंजर शंकर ने दिया है. इनसब के साथ गितांजलि थापा, स्रीजिता डे, नीरज कबी और तनिष्ठा चैटर्जी का भी अच्छा अभिनय है. सिनेमेटोग्राफी , एडिटिंग और बैकग्राउंड स्कोर फिल्म के सुर के साथ सुर मिलाते हैं. मेरे हिसाब से 'मॉनसून शूटआउट' एक अच्छी फ़िल्म है. इस फिल्म की रेटिंग साढ़े तीन स्टार्स हैं.

डायरेक्टर- अमित कुमार
स्टार कास्ट- नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी, विजय वर्मा, नीरज कबी, तनिष्ठा चैटर्जी, स्रीजिता डे और गितांजलि थापा
स्टार - 3.5



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement