NDTV Khabar

परेश रावल ने नागरिकता संशोधन बिल पर किया Tweet, बोले- अब NRC आने वाला है...

बॉलीवुड एक्टर परेश रावल (Paresh Rawal) ने एनआरसी को लेकर ट्वीट किया है और यह बात कही है...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
परेश रावल ने नागरिकता संशोधन बिल पर किया Tweet, बोले- अब NRC आने वाला है...

परेश रावल (Paresh Rawal) का ट्वीट हुआ वायरल

खास बातें

  1. नागरिकता संंशोधन बिल पर परेश रावल ने दिया रिएक्शन
  2. एक्टर ने ट्वीट कर कही NRC आने की बात
  3. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है ट्वीट
नई दिल्ली:

लोकसभा (Lok Sabha) में बीते दिन नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) पास हो चुका है. इस बिल के पक्ष में 311, जबकि विरोध में 80 वोट पड़े. बिल को लेकर सदन में गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने सदस्यों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि ये बिल लाखों- करोड़ों शरणार्थियों को यातनापूर्ण जीवन से मुक्ति दिलाने का जरिया बनने जा रहा है. नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर आम लोगों के साथ ही बॉलीवुड कलाकारों के रिएक्शन भी आ रहे हैं. हाल ही में इस मुद्दे पर बॉलीवुड एक्टर परेश रावल (Paresh Rawal) का रिएक्शन आया है. 

नागरिकता संशोधन विधेयक लोकसभा में हुआ पास तो आलिया भट्ट की मम्मी सोनी राजदान बोलीं, 'भारत का अंत...'


बॉलीवुड एक्टर परेश रावल (Paresh Rawal) ने गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के लोकसभा में दिए गए बयान पोस्ट किया. इस पोस्ट में अमित शाह एनआरसी (राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर) और नागरिकता संशोधन विधेयक को एक नहीं करने के लिए कह रहे हैं. अमित शाहर कह रहे हैं, "एनआरसी (NRC) और इसको जोड़ने की जरूरत नहीं है, एनआरसी करेंगे तो स्पष्टता के साथ इसी सदन में, इसी प्रकार से सबको इसकी जानकारी दूंगा. मानकर चलिए एनआरसी आने वाला है." परेश रावल (Paresh Rawal Twitter) ने इस पोस्ट को  शेयर करते हुए लिखा, "सर्दियां आ रही हैं, एनआरसी आने वाला है." परेश रावल के इस ट्वीट पर लोग खूब कमेंट कर रहे हैं और अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं.


लोकसभा में पास हुआ नागरिकता संशोधन विधेयक तो गौहर खान का यूं आया रिएक्शन, बोलीं- संविधान के लिए...

टिप्पणियां


बता दें कि गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) के बारे में कहा था कि यह बिल शरणार्थियों को नागरिकता देने का काम करेगा. उन्होंने कहा कि यह बिल किसी भी तरह से गैर संवैधानिक नहीं है न ही ये आर्टिकल-14 का उल्लंघन करता है. अमित शाह (Amit Shah In Loksabha) ने कहा कि इस देश का विभाजन धर्म के आधार पर न होता तो मुझे बिल लाने की जरूरत ही नहीं होती, सदन को ये स्वीकार करना होगा कि धर्म के आधार पर विभाजन हुआ है. जिस हिस्से में ज्यादा मुस्लिम रहते थे वो पाकिस्तान बना और दूसरा हिस्सा भारत बना. अब इस बिल को राज्यसभा में पेश किया जाएगा. 

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... सारा अली खान ने फिर शेयर की Photos, इंटरनेट पर मच गई धूम

Advertisement