NDTV Khabar

JNU में स्‍टूडेंट्स के समर्थन में उतरी स्वरा भास्कर, बोलीं 'JNU ने मेरी जिंदगी बदली है'

स्‍वरा भास्‍कर ने कहा, ' जेएनयू में पढ़ने से आप 'औकात' जैसे कॉन्‍सेप्‍ट से लड़ना सीख जाते हैं. यहां पढ़ने से मेरी जिंदगी बदल गई है.'

1325 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
JNU में स्‍टूडेंट्स के समर्थन में उतरी स्वरा भास्कर, बोलीं 'JNU ने मेरी जिंदगी बदली है'
नई दिल्‍ली: जेएनयू की एक्‍स स्‍टूडेंट एक्‍ट्रेस स्वरा भास्कर ने मंगलवार को यौन उत्पीड़न के मामलों पर नजर रखने वाली इकाई जीएससीएएसएच को फिर से स्थापित करने की मांग कर रहे विश्वविद्यालय के छात्रों और शिक्षकों को अपना समर्थन दिया. स्‍वरा भास्‍कर अपनी फिल्‍म ‘अनारकली ऑफ आरा’ की स्क्रीनिंग के लिए जेएनयू पहुंची. ऐसे में स्‍वरा ने कहा, 'यौन उत्पीड़न के खिलाफ लिंग संवेदीकरण समिति (जीएससीएएसएच) ने यह संभव कर दिया था कि महिलाएं सुरक्षित महसूस करें.' उन्होंने कहा, 'मुझे यह समझ नहीं आता कि क्यों कोई पहले से सुरक्षित कैम्पस को असुरक्षित बनाना चाहता है.'

यह भी पढ़ें: स्‍वरा भास्‍कर: मैं शाहरुख खान या आमिर खान नहीं हूं, मेरे पास खोने के लिए कुछ नहीं है
 
swara bhaskar

स्‍वरा भास्‍कर ने कहा, ' जेएनयू में पढ़ने से आप 'औकात' जैसे कॉन्‍सेप्‍ट से लड़ना सीख जाते हैं. यहां पढ़ने से मेरी जिंदगी बदल गई है.' बता दें कि स्‍वरा भास्‍कर इन दिनों दिल्‍ली में अपनी आने वाली फिल्‍म 'वीरे दी वेडिंग' की शूटिंग में बिजी हैं. यह फिल्‍म करीना कपूर खान की बॉलीवुड में कमबैक फिल्‍म है. अपने बेटे तैमूर के जन्‍म के बाद करीना इस फिल्‍म में नजर आएंगी. इस फिल्‍म में स्‍वरा के साथ सोनम कपूर भी नजर आएंगी.

यह भी पढ़ें: अपने भले व हक के लिए संकोच छोड़ें महिलाएं : स्वरा भास्कर

बता दें स्‍वरा भास्‍कर की फिल्‍म 'अनारकली ऑफ आरा' इसी साल मार्च में रिलीज हुई है और इस फिल्‍म में स्‍वरा के काम की काफी तारीफ हुई. यह फिल्‍म एक नाचने वाली महिला के साथ हुई घटना और उसके न्‍याय के लिए संघर्ष की कहानी है.

(इनपुट भाषा से भी)

VIDEO: स्पॉटलाइट : लोगों ने कहा, हीरोइन बनने के लायक नहीं हूं - स्‍वरा भास्‍कर



...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement