NDTV Khabar

उच्च जीडीपी के लिए उत्पादकता में वृद्धि महत्वपूर्ण : नीति आयोग के सदस्य बिबेक देबरॉय

"किसी भी देश की राष्ट्रीय आय उसके कामकाजी आयु वर्ग के नागरिकों की उत्पादकता होती है. विकास और राष्ट्रीय आय के विभिन्न स्रोत होते हैं. विकास या तो भूमि में वृद्धि के माध्यम से आ सकता है, लेकिन यह सीमित है. इसलिए उत्पादकता में वृद्धि इस प्रकार महत्वपूर्ण हो जाती है."

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उच्च जीडीपी के लिए उत्पादकता में वृद्धि महत्वपूर्ण : नीति आयोग के सदस्य बिबेक देबरॉय

नीति आयोग की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी.

नई दिल्ली: नीति आयोग के सदस्य बिबेक देबरॉय ने मंगलवार को कहा कि देश की राष्ट्रीय आय बढ़ाने के लिए उत्पादकता में वृद्धि महत्वपूर्ण है. देबरॉय आयोग की पांच सदस्यीय आर्थिक सलाहकार परिषद (ईएसी) के प्रमुख हैं. देबराय ने कन्फेडरेशन ऑफ इंडिया इंडस्ट्री (सीआईआई) द्वारा आयोजित इटरनेट ऑफ थिंग्स सम्मेलन 2017 में कहा, "किसी भी देश की राष्ट्रीय आय उसके कामकाजी आयु वर्ग के नागरिकों की उत्पादकता होती है. विकास और राष्ट्रीय आय के विभिन्न स्रोत होते हैं. विकास या तो भूमि में वृद्धि के माध्यम से आ सकता है, लेकिन यह सीमित है. इसलिए उत्पादकता में वृद्धि इस प्रकार महत्वपूर्ण हो जाती है."

उन्होंने कहा कि इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) समावेशी होने का वादा करता है, क्योंकि यह अपेक्षाकृत गरीबों को विभिन्न अवसरों तक पहुंचने में सक्षम बनाता है.

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें : राज्य यह तय नहीं कर सकते कि पर्यटक क्या खाएंगे या पीएंगे : नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कान्त

देबरॉय पांच सदस्यीय ईएसी के प्रमुख है, जिसका गठन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 25 सितंबर को किया गया था. साल की पहली तिमाही के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर गिरकर 5.7 फीसदी हो गई. मोदी सरकार के अंतर्गत यह सबसे कम विकास दर है.
VIDEO: अर्थव्यवस्था के लिए चिंता

समारोह से इतर जब देबराय से पूछा गया कि परिषद का तात्कालिक एजेंडा क्या है? उन्होंने कहा कि इस संबंध में ईएसी बुधवार को विस्तृत जानकारी देगी. खबरों के मुताबिक, ईएसी की पहली बैठक बुधवार को आयोजित की जा रही है. (IANS)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement