NEET 2018 आज, देशभर के 150 शहरों में 13.36 लाख छात्र दे रहे हैं परीक्षा

नीट आज आयोजित की जा रही है.60000 एमबीबीएस सीटों पर दाखिले के लिए कुल 13.36 लाख छात्र नीट में शामिल हो रहे हैं.

NEET 2018 आज, देशभर के 150 शहरों में 13.36 लाख छात्र दे रहे हैं परीक्षा

नीट परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है

खास बातें

  • मेडिकल कोर्स में दाखिले के लिए नीट का आयोजन
  • देशभर के 150 शहरों में हो रही है परीक्षा
  • 13 लाख से ज्यादा अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल
नई दिल्ली:

देशभर के मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए आयोजित राष्ट्रीय पात्रता व प्रवेश परीक्षा (नीट) आज आयोजित की जा रही है. देशभर के 150 शहरों में परीक्षा आयोज‍ित की जा रही है. परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. सीबीएसई के अनुसार शनिवार को सभी केंद्रों परीक्षा संबंधी सामग्री उपलब्ध करवा दी गई थी. इस बार देशभर में 60000 एमबीबीएस सीटों पर दाखिले के लिए कुल 13.36 लाख छात्र नीट में शामिल हो रहे हैं.

यह भी पढ़ें : NEET 2018: कड़ा और कृपाण धारी सिख छात्रों को एक घंटे पहले पहुंचना होगा परीक्षा केन्द्र

इस बार सीबीएसई ने परीक्षा में नकल रोकने के लिए खास इंतजाम किए हैं. अभ्यर्थियों के नोजपिन, चेन, नेकलेस, पेंडेंट, बैज, ब्रूच, घड़ी, कोई भी मैटेलिक आइटम, पेन, पेंसिल, कैलकुलेटर, पेन ड्राइव, पर्स, चश्मा, हैंडबैग, बेल्ट, अंगूठी आदि लाने पाबंदी लगाई गई है. वहीं अभ्यर्थियों को हल्के रंग के कपड़े पहनकर आने को कहा गया है. शर्ट भी केवल आधी बाजू की पहननी है. साथ ही चप्पल पहनकर आने को कहा गया है. परीक्षा केंद्रों पर भारी संख्या में पुलिस बल भी तैनात किए गए हैं. ताकि किसी भी तरह की अप्रिय घटना न हो.

यह भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट का आदेश : CBSE की NEET सहित अन्य अखिल भारतीय परीक्षाओं में जरूरी नहीं आधार

Newsbeep


आपको बता दें कि, नीट परीक्षा के संबंध में दिल्ली उच्च न्यायालय ने अहम फैसला दिया था. इस फैसले के बाद कड़ा और कृपाण धारण करने वाले एमबीबीएस के सिख परीक्षार्थियों को तय समय से एक घंटे पहले परीक्षा केन्द्र पर पहुंचना था. अदालत ने कहा था कि सीबीएसई पंथ से जुड़ी इन वस्तुओं को परीक्षा केन्द्र के भीतर ले जाने से नहीं रोक सकती है, जबकि इन्हें विमान में भी लेकर जाने की अनुमति होती है. न्यायमूर्ति एस रविन्द्र भट और न्यायमूर्ति एके चावला की पीठ ने सीबीएसई की उस दलील को खारिज कर दिया था कि इन वस्तुओं सहित किसी प्रकार के धातु से बने सामान को परीक्षा केन्द्र के भीतर ले जाने की मनाही है. पीठ ने कहा था कि अस्पष्ट आशंकाओं के आधार पर आप प्रतिबंध नहीं लगा सकते हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यह भी पढ़ें : विदेश जाकर MBBS करने के लिए भी पास करना होगा NEET, जानिये क्या है कारण