शिक्षक दिवस 2018: भारतीय इतिहास के पन्नों में दर्ज हैं इन 5 गुरुओं की महानता

हर साल 5 सितंबर को शिक्षक दिवस (Teacher's Day) बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है. इस दिन छात्र-छात्राएं शिक्षकों के प्रति अपने प्यार और सम्मान को प्रकट करते हैं.

शिक्षक दिवस 2018: भारतीय इतिहास के पन्नों में दर्ज हैं इन 5 गुरुओं की महानता

Teachers' Day 2018: प्राचीन काल के कई गुरूओं की विचारधारा को आज भी लोग फॉलों करते हैं.

नई दिल्ली:

हर साल 5 सितंबर को शिक्षक दिवस(Teacher's Day) बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है. इस दिन छात्र-छात्राएं शिक्षकों के प्रति अपने प्यार और सम्मान को प्रकट करते हैं. शिक्षकों (Teachers) और गुरूओं का हमारे जीवन में बेहद महत्वपूर्ण स्थान हैं. प्राचीन काल से ही गुरूओं का स्थान सबसे ऊपर रहा है. चन्द्रगुप्त मौर्य अपने गुरू चाणक्य के मार्गदर्शन की बदौलत ही नंदवंश का नाश कर राजा बने थे. प्राचीन काल के कई गुरूओं की विचारधारा को आज भी लोग फॉलों करते हैं. ऐसे में आज हम आपको भारतीय इतिहास के कुछ महान गुरूओं के बारें में बताने जा रहे हैं.

आइये जानते है भारतीय इतिहास के महान गुरुओं के बारे में.

द्रोणाचार्य
कौरवों और पांडवों के गुरु रहे द्रोणाचार्य भारतीय इतिहास के महान गुरुओं में से एक हैं. ऐसा कहा जाता है कि द्रोणाचार्य का जन्म उत्तरांचल की राजधानी देहरादून में हुआ था. महाभारत युद्ध के समय वह कौरव पक्ष के सेनापति थे. आपको बता दें कि गुरु द्रोणाचार्य को एकलव्य ने अपना अंगूठा गुरु दक्षिणा के रूप में दिया था.

गुरु वशिष्ठ​
गुरु वशिष्ठ​ राजा दशरथ के चारों पुत्रों के गुरु थे. वशिष्ठ के कहने पर दशरथ ने अपने चारों पुत्रों को ऋषि विश्वामित्र के साथ आश्रम में राक्षसों का वध करने के लिए भेज दिया था. गुरु वशिष्ठ को राजा बने बिना जो सम्मान  प्राप्त था उसके सामने राजा का पद छोटा दिखता था.

Teacher's Day 2018: शिक्षक दिवस पर योगी का बड़ा ऐलान, जल्द होगी 97 हजार पदों पर शिक्षकों की भर्ती

महर्षि वेदव्यास


परशुराम
परशुराम को भगवान विष्णु का छठा अवतार माना जाता है. मान्यता है कि पराक्रम के प्रतीक भगवान परशुराम का जन्म 6 उच्च ग्रहों के योग में हुआ, इसलिए वह तेजस्वी, ओजस्वी और वर्चस्वी महापुरुष बने. प्रतापी एवं माता-पिता भक्त परशुराम ने जहां पिता की आज्ञा से माता का गला काट दिया, वहीं पिता से माता को जीवित करने का वरदान भी मांग लिया. इस तरह हठी, क्रोधी और अन्याय के खिलाफ संघर्ष करने वाले परशुराम का लक्ष्य मानव मात्र का हित था. 

Teacher's Day Quotes: सफलता का मार्ग दिखाते हैं सर्वपल्ली राधाकृष्णन के ये 10 विचार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

चाणक्य 
चाणक्य चन्द्रगुप्त मौर्य के महामंत्री थे. उन्हें 'कौटिल्य' के नाम से भी जाना जाता था. चाणक्य के नाम से प्रसिद्ध एक नीतिग्रंथ ‘चाण-क्य नीति’ भी प्रचलित है. उन्होने नंदवंश का नाश करके चन्द्रगुप्त मौर्य को राजा बनाया.

VIDEO: देश में शिक्षा के हालात पर देखें प्राइप टाइम
 
अन्य खबरें
Google Doodle On Sarvepalli Radhakrishnan: सर्वपल्ली राधाकृष्णन को अंग्रेजों ने दी थी 'सर' की उपाधि, जानिए राधाकृष्णन के जीवन जुड़ी 5 खास बातें
Teachers' Day History: जानिए 5 सितंबर को ही क्यों मनाया जाता है शिक्षक दिवस?