NDTV Khabar

IND vs NZ: भुवनेश्‍वर कुमार ने बताया, इस कारण जसप्रीत बुमराह का सामना करने में बल्‍लेबाजों को होती है मुश्किल

टीम इंडिया के स्विंग बॉलर भुवनेश्‍वर कुमार ने कहा है कि उनके साथी जसप्रीत बुमराह ने अपने एक्‍शन पर काफी मेहनत की है और अब इसका फायदा उन्‍हें मिल रहा है. गौरतलब है कि बुमराह तेज गेंदबाजी में आज टीम इंडिया के आधार स्‍तंभ बन चुके हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND vs NZ: भुवनेश्‍वर कुमार ने बताया, इस कारण जसप्रीत बुमराह का सामना करने में बल्‍लेबाजों को होती है मुश्किल

शॉर्टर फॉर्मेट में भुवनेश्‍वर और बुमराह आज टीम इंडिया के प्रमुख गेंदबाज बन चुके हैं

खास बातें

  1. कहा, बुमराह डेथ ओवर्स में भी अच्‍छी बॉलिंग कर सकते हैं
  2. उनके अलग एक्‍शन के कारण बल्‍लेबाजों को होती है दिक्‍कत
  3. मैच के दौरान हम दोनों गेंदबाजी के बारे में करते हैं बातचीत
त्रिवेंद्रम: टीम इंडिया के स्विंग बॉलर भुवनेश्‍वर कुमार ने कहा है कि उनके साथी जसप्रीत बुमराह ने अपने एक्‍शन पर काफी मेहनत की है और अब इसका फायदा उन्‍हें मिल रहा है. गौरतलब है कि बुमराह तेज गेंदबाजी में आज टीम इंडिया के आधार स्‍तंभ बन चुके हैं.  बुमराह की सफलता का राज पूछने पर उन्होंने कहा,‘बुमराह का एक्शन अलग है जिससे बल्लेबाजों को दिक्कत होती है. उसने अपने एक्शन पर काफी मेहनत की है.उसके पास पहले भी यार्कर और धीमी गेंदें थी लेकिन अब इनमें काफी सुधार आया है.’भुवनेश्‍वर कुमार ने कहा कि उन्हें यकीन है कि जसप्रीत बुमराह डेथ ओवर्स में अच्छी गेंदबाजी कर सकता है.

यह भी पढ़ें: गेंदबाजी में इस 'ब्रह्मास्‍त्र' को शामिल करके और खतरनाक हो गए हैं भुवनेश्‍वर

टिप्पणियां
उन्होंने कहा,‘जब आप बुमराह के साथ गेंदबाजी करते हैं तो आपको यकीन रहता है कि डेथ ओवरों में आपको रन बचाने हैं और आप अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं तो वह भी आपका साथ देगा.’भुवनेश्वर ने कहा,‘दूसरी अच्छी बात यह है कि जब मैच शुरू होता है तो हम ट्रैक पर एक दूसरे से बात करते हैं और रणनीति तय करते हैं. इससे दोनों को काफी मदद मिल जाती है.’उन्होंने कहा कि राजकोट में दूसरा टी20 मैच 40 रन से हारने के बावजूद टीम को विशेषज्ञ गेंदबाज की कमी महसूस नहीं हो रही थी.

वीडियो: पुजारा बोले, धोनी और विराट में कॉमन है रनों की भूख
भुवनेश्‍वर कुमार ने कहा,‘आप गेंदबाजों को हार के लिये दोषी नहीं ठहरा सकते. दूसरी टीम भी खेल रही है. हमने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उम्दा क्रिकेट खेली और वेस्टइंडीज में भी. तीन मैचों की सीरीज बहुत छोटी होती है और पहला मैच जीतकर दूसरा हारने के बाद बराबरी हो जाती है तो आखिरी मैच अहम हो जाता है.’ भुवनेश्वर ने कहा,‘जहां तक पांचवें गेंदबाज की बात है तो हमारे पास हार्दिक पंड्या और दूसरे अनियमित गेंदबाज है.हमें अभी तक विशेषज्ञ गेंदबाज की कमी नहीं खली.’ (इनपुट: एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement