NZ vs IND 1st Test: ये 5 बातें बनीं वेल‍िंगटन टेस्‍ट में व‍िराट कोहली ब्र‍िगेड की हार का कारण...

New Zealand vs India: दबाव अब व‍िराट कोहली ब्र‍िगेड (Indian Team) पर है, सीरीज में बराबरी के ल‍िए उसे 29 फरवरी से प्रारंभ होने वाले दूसरे टेस्‍ट मैच में हर हाल में जीत हास‍िल करनी होगी.

NZ vs IND 1st Test: ये 5 बातें बनीं वेल‍िंगटन टेस्‍ट में व‍िराट कोहली ब्र‍िगेड की हार का कारण...

NZ vs IND 1st Test: वेल‍िंगटन में बल्‍लेबाजी और गेंदबाजी में भारत का प्रदर्शन खराब रहा

New Zealand vs India, 1st Test: टेस्‍ट क्र‍िकेट की नंबर वन टीम, भारत को न्‍यूजीलैंड के ख‍िलाफ टेस्‍ट सीरीज के पहले मैच (NZ vs IND 1st Test) में 10 व‍िकेट की हार का सामना करना पड़ा है. भारतीय टीम का मैच में प्रदर्शन बेहद न‍िराशाजनक रहा और टीम के द‍िग्‍गज बल्‍लेबाजों ने ज‍िस तरह की मेजबान टीम के गेंदबाजों के सामने समर्पण क‍िया, उससे फैंस बेहद नाराज नजर आए. वेल‍िंगटन में हास‍िल इस जीत के साथ न्‍यूजीलैंड टीम ने सीरीज में 1-0 की बढ़त हास‍िल कर ली. दबाव अब व‍िराट कोहली ((Virat Kohli))ब्र‍िगेड (Indian Team)पर है, सीरीज में बराबरी के ल‍िए उसे 29 फरवरी से प्रारंभ होने वाले दूसरे टेस्‍ट मैच में हर हाल में जीत हास‍िल करनी होगी. मैच में भारतीय टीम दोनों ही पार‍ियों में 200 रन से कम स्‍कोर पर आउट हुई. पहले टेस्‍ट में वह 165 रन पर ढेर हुई जबक‍ि दूसरी पारी में वह 191 रन पर स‍िमटी. न्‍यूजीलैंड ने पहली पारी में 348 रन बनाया था. मैच में जीत हास‍िल करने के ल‍िए उसके सामने 9 रन का आसान टारगेट था जो उसमें चौथे द‍िन लंच के पहले ही हास‍िल कर ल‍िया. पांच बातें, जो भारतीय टीम की हार का कारण बनीं..

टीम इंड‍िया की हार पर फैंस का फूटा गुस्‍सा, कहा-टी20 की तरह खेला टेस्‍ट मैच

1. ओपनरों का न‍िराशाजनक प्रदर्शन
रोह‍ित शर्मा के चोट‍िल होने के कारण वेल‍िंगटन टेस्‍ट में पारी की शुरुआत मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal )के साथ पृथ्‍वी शॉ (Prithvi Shaw)ने की. दोनों ही बल्‍लेबाजों को टेस्‍ट क्र‍िकेट के ल‍िहाज से कम अनुभव है. शॉ तो दोनों ही पार‍ियों में फ्लॉप रहे. पहले व‍िकेट के ल‍िए बड़ी साझेदारी नहीं हो पाना भारत के बड़े स्‍कोर तक नहीं पहुंच पाने का प्रमुख कारण रहा. ऐसा लगा क‍ि शॉ शॉर्टर फॉर्मेट के क्र‍िकेट के मोड में हैं. उन्‍होंने पारी की शुरुआत से ही आक्रामक रुख अपनाने की कोश‍िश की और खाम‍ियाजा भुगता. पहली पारी में भारत को शुरुआती झटका 26 और दूसरी पारी में 27 के स्‍कोर पर लगा. नतीजा यह रहा क‍ि दोनों ही पार‍ियों में 10 ओवर के पहले ही चेतेश्‍वर पुजारा को बल्‍लेबाजी के ल‍िए उतरना पड़ा. मयंक अग्रवाल की बात करें तो उन्‍होंने पहली पारी में 34 रन और दूसरी पारी में 58 रन बनाए लेक‍िन सेट होने के बाद उन्‍होंने व‍िकेट गंवा द‍िया. भारतीय टीम को अच्‍छी शुरुआत नहीं म‍िल पाई, इस कारण 300+ का स्‍कोर करने की उसकी उम्‍मीदों पर पानी फ‍िर गया.

2. चेतेश्‍वर, व‍िराट और हनुमा व‍िहारी का नहीं चलना
ऑस्‍ट्रेल‍िया दौरे में बल्‍ले से अच्‍छा प्रदर्शन करने के बाद से चेतश्‍वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) बड़ी पारी नहीं खेल सके हैं. वेल‍िंगटन टेस्‍ट में भारत के अच्‍छा स्‍कोर करने के ल‍िए यह जरूरी था क‍ि वे व‍िकेट पर देर तक रुकें और बड़े स्‍कोर का आधार तैयार करें. दुर्भाग्‍य से ऐसा नहीं हो सका. पुजारा दोनों पार‍ियों में 11-11 रन बनाकर आउट हुए. रही-सही कसर कप्‍तान व‍िराट कोहली के जल्‍दी आउट होने से पूरी हो गई. व‍िराट (Virat Kohli)ने ऑफ स्‍टंप के बाहर की गेंद को ड्राइव करने की कोश‍िश में व‍िकेट गंवाया. हनुमा व‍िहारी (Hanuma Vihari )ने प्रैक्‍ट‍िस मैच में शतक जमाया था लेक‍िन जब जरूरत थी तब वे भी भारतीय टीम के काम नहीं आए. मयंक अग्रवाल की ही तरह अज‍िंक्‍य रहाणे ने भी दोनों पार‍ियों में सेट होने के बाद व‍िकेट गंवाए.

NZ vs IND 1st Test: हार के बाद बल्‍लेबाजों पर बरसे व‍िराट कोहली..

3. टॉस हारना भी न‍िर्णायक साब‍ित हुआ..
टॉस (Toss)के मामले में भारतीय कप्‍तान व‍िराट कोहली बदनसीब रहे. घास से भरपूर व‍िकेट पर वे टॉस हार गए और भारत को पहले बैट‍िंग करनी पड़ी. गत‍ि और उछाल से भरपूर व‍िकेट का न्‍यूजीलैंड के गेंदबाजों ने भरपूर फायदा उठाया और पहली पारी में भारत को 165 रन के छोटे स्‍कोर पर समेटकर उसे बैकफुट पर ला द‍िया. व‍िकेट ऐसा था क‍ि जो भी टीम टॉस जीतती, पहले बॉल‍िंग करना ही पसंद करती. मैच के बाद व‍िराट कोहली ने भी माना क‍ि टॉस अहम साब‍ित हुआ और न्‍यूजीलैंड के गेंदबाजों ने मददगार व‍िकेट पर भारत को बड़ा स्‍कोर नहीं बनाने द‍िया.

4. तेज गेंदबाज बुमराह और शमी का कमजोर प्रदर्शन
मैच से पहले माना जा रहा था क‍ि ईशांत, शमी और बुमराह की तेज गेंदबाजी की त‍िकड़ी न्‍यूजीलैंड के बल्‍लेबाजों की कठ‍िन परीक्षा लेगी, दुर्भाग्‍य से ऐसा हो नहीं सका. शमी और बुमराह, दोनों ही मैच में संघर्ष करते नजर आए. वनडे सीरीज में कोई व‍िकेट नहीं ले पाए बुमराह (Jasprit Bumrah) को केवल एक व‍िकेट म‍िला. ऐसा लगा ही नहीं क‍ि वे अपनी गेंदबाजी से कीवी बल्‍लेबाजों पर खौफ कायम कर पा रहे हैं. शमी (Mohammed Shami) भी मैच में केवल एक व‍िकेट ले पाए. ये दोनों ही गेंदबाज महंगे भी साब‍ित हुए. नतीजा यह रहा क‍ि इंजुरी से वापस लौटे ईशांत शर्मा पर दबाव बढ़ गया. ईशांत ने पहली पारी में पांच व‍िकेट लेकर अनुभवी गेंदबाजी की ज‍िम्‍मेदारी न‍िभाई लेक‍िन दूसरे छोर से उन्‍हें सहयोग नहीं म‍िला. शमी और बुमराह की इस नाकामी के बीच यह सवाल उठने लगे क‍ि उमेश यादव को इस मैच में प्‍लेइंग इलेवन में क्‍यों नहीं रखा गया?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

5. बड़ी साझेदारी नहीं हो पाना
पूरे मैच के दौरान भारत की ओर से बड़ी साझेदारी नहीं हो सकी. भारतीय बल्‍लेबाजों की नाकामी का अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है क‍ि व‍िराट की टीम की ओर से सबसे बड़ी साझेदारी 51 रन की हुई. भारत की दूसरी पारी के दौरान यह साझेदारी मयंक अग्रवाल और चेतेश्‍वर पुजारा के बीच हुई. कोई भी बड़ी साझेदारी नहीं हो पाने के कारण भारत मैच में बड़ा स्‍कोर नहीं बना सका. इसके अलावा ऋद्ध‍िमान साहा के स्‍थान पर ऋषभ पंत को स्‍थान देने का टीम मैनेजमेंट का फैसला भी लोगों का नागवार गुजरा.

वीडियो: 15 साल की लड़की ने तोड़ा तेंदुलकर का रिकॉर्ड