NZ vs IND 2nd Test: अज‍िंक्‍य रहाणे ने भारतीय बल्‍लेबाजों को इस मामले में दी सावधानी बरतने की सलाह..

NZ vs IND 2nd Test: टेस्‍ट फॉर्मेट में भारतीय टीम के उप कप्‍तान अज‍िंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) का मानना है क‍ि उनके बल्लेबाजों को दूसरे टेस्ट मैच में न्‍यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों का मजबूत इरादों के साथ सामना करना होगा.

NZ vs IND 2nd  Test: अज‍िंक्‍य रहाणे ने भारतीय बल्‍लेबाजों को इस मामले में दी सावधानी बरतने की सलाह..

Ajinkya Rahane टेस्‍ट क्र‍िकेट के फार्मेट में टीम इंड‍िया के उपकप्‍तान हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  • पहले टेस्‍ट में चौथे द‍िन ही 10 व‍िकेट से हार गया था भारत
  • रहाणे बोले, खास एंगल से की गई शॉर्टप‍िच गेंदों को समझना होगा
  • वेल‍िंगटन टेस्‍ट में जो कुछ हुआ, उसे हमें भूलना होगा
क्राइस्टचर्च:

New Zealand vs India, 2nd Test: न्‍यूजीलैंड के ख‍िलाफ टेस्‍ट सीरीज में दबाव व‍िराट कोहली की भारतीय टीम पर है. वेल‍िंगटन के पहले टेस्‍ट में भारतीय टीम को 10 व‍िकेट की करारी हार म‍िली और वह सीरीज में 0-1 से पीछे हो गई है. सीरीज का दूसरा मैच (New Zealand vs India, 2nd Test) शन‍िवार से क्राइस्‍टचर्च में खेला जाएगा. सीरीज में बराबरी हास‍िल करने के ल‍िए टीम इंड‍िया को हर हाल में इस मैच में जीत हास‍िल करनी होगी. न्‍यूजीलैंड के गेंदबाजों के मददगार व‍िकेटों पर भारतीय बल्‍लेबाजों ने वेल‍िंगटन में जैसा प्रदर्शन क‍िया, उनके टीम की प्रत‍िष्‍ठा को धक्‍का पहुंचाया है. पहले टेस्‍ट के खराब प्रदर्शन के बाद भारतीय टीम आलोचकों के न‍िशाने पर है. टेस्‍ट फॉर्मेट में भारतीय टीम के उप कप्‍तान अज‍िंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) का मानना है क‍ि उनके बल्लेबाजों को दूसरे टेस्ट मैच में न्‍यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों का मजबूत इरादों के साथ सामना करना होगा. खासतौर पर उन्‍हें एक विशेष ‘एंगल' (कोण) से की गई शॉर्ट पिच गेंदों को समझना होगा जो वेलिंगटन में पहले टेस्ट मैच में भारतीय बल्‍लेबाजों के ल‍िए दु:स्वप्न बन गई थी.

इस वजह से युवराज सिंह के प्रशंसक हो गए पृथ्वी शॉ से नाराज

रहाणे ने पहले टेस्ट की पहली पारी में सर्वाधिक 46 रन बनाए थे. उन्होंने उम्मीद जतायी कि हेगले ओवल की पिच पर घास होने के बावजूद उनकी टीम वापसी करेगी. रहाणे ने गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा, ‘मैं यह नहीं कह रहा हूं कि हमें अधिक आक्रामक होना चाहिए लेकिन मजबूत इरादे और स्पष्ट मानसिकता से हमें मदद मिलेगी.'न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों ट्रेंट बोल्ट, टिम साउदी और काइल जेम‍िसन ने वेलिंगटन में क्रीज के बाहरी छोर से एक विशेष ‘एंगल' (कोण) के रनअप से शॉर्ट पिच गेंदें की थी जिसे भारतीय बल्लेबाज नहीं समझ पाए थे. रहाणे ने कहा, ‘मुझे लगता है कि वेलिंगटन में उन्होंने उस ‘एंगल' (कोण) का बहुत अच्छा इस्तेमाल किया. उन्होंने क्रीज के बाहरी छोर से या बीच से गेंदबाजी की. शार्टपिच गेंद करते समय वे अपना ‘एंगल' बदल रहे थे. मेरा मानना है कि उनकी रणनीति स्पष्ट थी. '

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

भारत की टेस्‍ट टीम के उप कप्तान ने कहा, ‘एक बल्लेबाज के रूप में अगर आप किसी खास शॉट के बारे में सोचते तो आपको खुद पर भरोसा रखकर वह शॉट खेलना चाहिए. आप खुद पर संदेह नहीं कर सकते. वेलिंगटन में जो कुछ हुआ हमें उसे भूलने की जरूरत है.' रहाणे के अनुसार भारतीय बल्लेबाज यहां दोनों अभ्यास सत्र में उस कोण से की गई गेंदबाजी का सामना करने की कोशिश करेंगे जिसका इस्तेमाल नील वैगनर और उनके साथी कर सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं यही कहता हूं कि कोशिश करो और एक टीम के रूप में हमने जो गलतियां की उनसे सबक लो. हमें उस कोण से की गई गेंदों का अभ्यास करना होगा. हमने अभ्यास सत्र में भाग लिया और कल एक और अभ्यास सत्र में हिस्सा लेंगे. आपको उसका अभ्यास करना होगा और क्रीज पर अपनी क्षमता पर भरोसा दिखाना होगा.'

पहले क्रम पर बैट‍िंग के ल‍िए आने वाले चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) की वेल‍िंगटन टेस्ट मैच की दूसरी पारी में 81 गेंदों पर 11 रन बनाने के लिए कड़ी आलोचना की गई थी. रहाणे ने इस बारे में कहा, ‘पुजारा अपनी तरफ से कोशिश कर रहा था वह असल में रन बनाने पर ध्यान दे रहा था लेकिन बोल्ट, साउदी और अन्य गेंदबाजों ने ज्यादा मौके नहीं दिए. यह सभी बल्लेबाजों के साथ होता है. मेरे कहने का मतलब है कि सभी बल्लेबाज इस दौर से गुजरते हैं.'



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)