Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

NZ vs IND: अज‍िंक्‍य रहाणे बोले, पंत को स्वीकार करना होगा कि वह खराब दौर से गुजर रहे हैं...

ऋषभ पंत पांच महीने पहले तक सभी प्रारूपों में विकेटकीपर के तौर पर भारत की पहली पसंद थे, लेक‍िन बल्‍लेबाजी में लगातार खराब प्रदर्शन के कारण उन्‍होंने अपनी जगह गंवा दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
NZ vs IND: अज‍िंक्‍य रहाणे बोले, पंत को स्वीकार करना होगा कि वह खराब दौर से गुजर रहे हैं...

Rishabh Pant को बल्लेबाजी प्रदर्शन को लेकर आलोचना का सामना करना पड़ रहा है

खास बातें

  1. कहा, पंत को बेहतर बनने पर फोकस जारी रखना होगा
  2. हर फॉर्मेट के क्र‍िकेट की प्‍लेइंग XI से बाहर हो चुके हैं पंत
  3. व‍िकेट पर सेट हुए ब‍िना 'बड़े' शॉट लगाने की है आदत
वेल‍िंगटन:

New Zealand vs India, 1st Test: टेस्‍ट क्र‍िकेट में भारतीय टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ( Ajinkya Rahane) ने कहा है कि व‍िकेटकीपर बल्‍लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant)को स्वीकार करना होगा कि वह खराब दौर से गुजर रहा है. इसके साथ ही उसे (पंत को) बतौर क्रिकेटर बेहतर होने पर फोकस जारी रखना होगा. गौरतलब है क‍ि 22 साल के पंत पांच महीने पहले तक सभी प्रारूपों में विकेटकीपर के तौर पर भारत की पहली पसंद थे, लेक‍िन बल्‍लेबाजी में लगातार खराब प्रदर्शन के कारण उन्‍होंने अपनी जगह गंवा दी. सीम‍ित ओवरों के फॉर्मेट में इस समय पंत के स्‍थान पर केएल राहुल व‍िकेटकीपर के रोल में हैं जबकि टेस्ट क्र‍िकेट में ऋद्धि‍मान साहा विकेटकीपर हैं. रहाणे ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट से पूर्व यह व‍िचार जताए. भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच दो टेस्‍ट मैचों की सीरीज का पहला मैच 21 फरवरी से वेल‍िंगटन में खेला जाएगा.

पाक‍िस्‍तान क्र‍िकेट बोर्ड ने उमर अकमल को तत्‍काल प्रभाव से क‍िया सस्‍पेंड


रहाणे ने कहा,‘यह स्वीकार करना जरूरी है कि आप कहां खड़े हैं. सकारात्मक रहकर ज्यादा से ज्यादा सीखने की जरूरत है. बात सीनियर या जूनियर की नहीं है.' उन्होंने कहा,‘किसी को भी बाहर बैठना अच्छा नहीं लगता लेकिन यह स्वीकार करना होगा कि टीम को उस दिन क्या जरूरत है. हर खिलाड़ी के लिये स्थिति को स्वीकार करना अहम है.जो हम नियंत्रण में रख सकते हैं, उसी पर फोकस रखना होगा. बतौर क्रिकेटर मेहनत करते रहना होगा.'

टिप्पणियां

पंत (Rishabh Pant)को एक समय भारत का भव‍िष्‍य का बेहतरीन प्‍लेयर माना जाता था लेक‍िन बल्‍ले से उनकी लगातार नाकामी ने भारतीय टीम मैनेजमेंट की च‍िंता बढ़ा दी है. व‍िशेषज्ञों की राय है क‍ि जरूरत से ज्‍यादा आक्रामक रुख अपनाने और व‍िकेट पर सेट हुए ब‍िना बड़े शॉट लगाने का आदत पर पंत को अंकुश लगाना होगा. 

वीडियो: 15 साल की लड़की ने तोड़ा तेंदुलकर का रिकॉर्ड



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर बोले- मैं रामायण देख रहा हूं, तो फराह खान बोलीं- कई मजदूर भोजन और पानी के बिना...

Advertisement