NDTV Khabar

रणजी ट्रॉफी: कर्नाटक ने केएल राहुल को बैटिंग का मौका दिया, दिल्‍ली को नहीं दिया फॉलोआन, मैच ड्रॉ

अभिमन्यु मिथुन की शानदार गेंदबाजी से 24 रन के अंदर छह विकेट निकालने के बावजूद कर्नाटक ने यहां दिल्ली को फॉलोआन देने के बजाय राष्ट्रीय टेस्ट टीम के सदस्य लोकेश राहुल को बल्लेबाजी अभ्यास का मौका दिया जिससे रणजी ट्रॉफी ग्रुप 'ए' का मैच ड्रॉ समाप्त हुआ.

70 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
रणजी ट्रॉफी: कर्नाटक ने केएल राहुल को बैटिंग का मौका दिया, दिल्‍ली को नहीं दिया फॉलोआन, मैच ड्रॉ

कर्नाटक की दूसरी पारी में केएल राहुल ने 92 रन की पारी खेली (फाइल फोटो)

अलूर (कर्नाटक): अभिमन्यु मिथुन की शानदार गेंदबाजी से 24 रन के अंदर छह विकेट निकालने के बावजूद कर्नाटक ने यहां दिल्ली को फॉलोआन देने के बजाय राष्ट्रीय टेस्ट टीम के सदस्य लोकेश राहुल को बल्लेबाजी अभ्यास का मौका दिया जिससे रणजी ट्रॉफी ग्रुप 'ए' का मैच ड्रॉ समाप्त हुआ. दिल्ली ने कर्नाटक के पहली पारी के 649 रन के जवाब में मैच के चौथे और अंतिम दिन कल अपनी पहली पारी चार विकेट पर 277 रन से आगे शुरू की लेकिन उसकी पूरी टीम 301 रन पर ढेर हो गई. गौतम गंभीर (144) अपने कल के स्कोर में केवल नौ रन जोड़ पाए जबकि मिथुन ने 70 रन देकर पांच विकेट लिए.कर्नाटक ने इस तरह से 348 रन की विशाल बढ़त हासिल की लेकिन उसके कप्तान आर विनयकुमार ने दिल्ली को फालोआन के लिये आमंत्रित नहीं किया. श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम में चुने गए सलामी बल्लेबाज राहुल ने हालांकि इसका पूरा फायदा उठाया. उन्होंने रन आउट होने से पहले 109 गेंदों पर 92 रन की दिलकश पारी खेली जिसमें नौ चौके और दो छक्के शामिल हैं. उन्होंने आर समर्थ (47) के साथ पहले विकेट के लिये 121 रन जोड़े. जब मैच ड्रॉ कराने पर सहमति जताई गई तब करुण नायर 33 और मनीष पांडे 34 रन पर खेल रहे थे. कर्नाटक ने उस समय अपनी दूसरी पारी में तीन विकेट पर 335 रन बनाए थे. इस तरह से कर्नाटक का विजय अभियान भी थम गया. अपने शुरुआती तीनों मैच जीतने वाले कर्नाटक को पहली पारी में बढ़त के आधार पर तीन अंक मिले और उसके अब चार मैचों में 21 अंक हो गए हैं. कर्नाटक की टीम अब भी ग्रुप ए में शीर्ष पर है. दिल्ली चार मैचों में दो जीत और दो ड्रॉ के साथ 17 अंक लेकर दूसरे स्थान पर है.

वीडियो: गावस्‍कर ने इस अंदाज में की विराट कोहली की प्रशंसा

दिल्ली ने सुबह दिन के पहले ओवर में ही कल के अविजित बल्लेबाज मिलिंद कुमार (दस) का विकेट गंवा दिया जिन्हें मिथुन ने समर्थ के हाथों कैच कराया. अगली गेंद पर मनन शर्मा रन आउट होकर पेवेलियन लौट गए. मिथुन ने अपने अगले ओवर में गंभीर को भी आउट कर दिया जिनका कैच समर्थ ने लिया. बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने अपनी 244 गेंदों की पारी में 22 चौके लगाए. विकास टोकस (11) के प्रयासों से दिल्ली 300 रन के पार तो पहुंच गई लेकिन दिन के 11 ओवर के अंदर उसने अपने बाकी बचे छह विकेट गंवा दिए.  कर्नाटक की तरफ से मिथुन के अलावा स्टुअर्ट बिन्नी ने 39 रन देकर दो विकेट लिए. कर्नाटक की पहली पारी में शतक जड़ने वाले इस आलराउंडर को मैन ऑफ द मैच चुना गया


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement