NDTV Khabar

शिखर धवन ने कहा, गलतियों से सीख रहे हैं भारतीय बल्लेबाज

श्रीलंका के खिलाफ कल तीसरा और निर्णायक एक दिवसीय मैच, धवन ने कहा- चीजें हमारे पक्ष में नहीं रहीं लेकिन हम सभी ने इससे सीखा, कभी-कभी जब आप गिरते हों तो यह अच्छा होता है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिखर धवन ने कहा, गलतियों से सीख रहे हैं भारतीय बल्लेबाज

शिखर धवन (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. धवन ने अपने साथी बल्लेबाज रोहित शर्मा की तारीफ की
  2. कहा- दबाव नहीं लेने वाला कप्तान है रोहित शर्मा
  3. कल होने वाले मैच से पहले दबाव, लेकिन टीम इसकी आदी
विशाखापट्टनम: भारतीय बल्लेबाजों को पिछले कुछ समय में मूव होती गेंद के खिलाफ परेशानी का सामना करना पड़ा है लेकिन सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने शनिवार को जोर देकर कहा कि उन्हें धर्मशाला और कोलकाता में की गलतियों से सबक लिया है. तेज गेंदबाजी की अनुकूल पिच पर साधारण प्रदर्शन से अगले महीने की शुरुआत से होने वाले दक्षिण अफ्रीका दौरे की तैयारियों को लेकर सवालिया निशान लगा है. भारत को दक्षिण अफ्रीका में तीन मैचों की टेस्ट श्रृंखला खेलनी है जबकि उससे पहले उसे कोई अभ्यास मैच नहीं खेलना है.

श्रीलंका के खिलाफ कल होने वाले तीसरे और निर्णायक एक दिवसीय मैच से पूर्व धवन ने कहा, ‘‘हमने काफी चीजें सीखी हैं. विशेषकर तब जब हम कोलकाता (श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट में) और धर्मशाला (पहले वनडे में) में खेले.’’ उन्होंने कहा, ‘‘गेंद सीम कर रही थी और यह नमी वाला विकेट था लेकिन इसके बावजूद हम सकारात्मक रवैये के साथ उतरे और हमारा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और बेशक, चीजें हमारे पक्ष में नहीं रहीं लेकिन हम सभी ने इससे सीखा. कभी कभी जब आप गिरते हों तो यह अच्छा होता है, आप इससे काफी चीजें सीखते हैं.’’

यह भी पढ़ें : विशाखापट्टनम में जीत का ज़्यादा दबाव भारत पर : श्रीलंकाई कप्तान थिसारा परेरा

कप्तान रोहित शर्मा के तीसरे दोहरे शतक की बदौलत भारत मोहाली में दूसरे वनडे में श्रीलंका को हराकर तीन मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर करने में सफल रहा. धवन ने कहा, ‘‘अगले मैच में हमने जिस तरह की वापसी की, मोहाली में हमें लगा कि शुरू में विकेट में नमी है लेकिन ऐसा नहीं था. जब हम शुरू में बल्लेबाजी कर रहे थे तो गेंद उतनी अच्छी तरह बल्ले पर नहीं आ रही थी. हम दबाव से अच्छी तरह निपटे और 10 ओवर के बाद खेल बदल दिया.’’ धवन ने अपने साथी बल्लेबाज रोहित की तारीफ की जो पहली बार किसी पूर्ण श्रृंखला में टीम की अगुआई कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘वह सिर्फ दो मैचों से कप्तान है लेकिन मैं उसे लंबे समय से जानता हूं और मुझे पता है कि वह कैसा व्यक्ति है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘वह दबाव नहीं लेने वाला कप्तान है और हमें बेसिक्स सही रखने के लिए कहता है, हमें सभी को अपनी भूमिका पता है, हमें सिर्फ अपना सर्वश्रेष्ठ देना होता है और पिछले मैच में उसने जिस तरह का प्रदर्शन किया उसके लिए उसे सलाम. इसे लेकर काफी खुश हूं.’’

VIDEO : गावस्कर ने की तारीफ

टिप्पणियां

इस सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘‘रोहित और मैं लंबे समय से खेल रहे हैं. मैं जिन सलामी बल्लेबाजों के साथ खेला उसमें वह सर्वश्रेष्ठ में से एक है.’’ धवन ने स्वीकार किया कि कल होने वाले निर्णायक मैच से पहले दबाव है लेकिन टीम इसकी आदी है. उन्होंने कहा, ‘‘जब भी आप फाइनल (निर्णायक मैच में) में खेलते हो तो बेशक दबाव होता है, दबाव है लेकिन हम इसे आदी हैं और कल बड़ी संख्या में दर्शक आएंगे. ’’ धवन ने साथ ही संभावना जताई कि मोहली में हार के साथ श्रीलंका की टीम बेहतर तैयारी के साथ उतरेगी और भारत इसके लिए तैयार है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement