Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इसलिए सौरव गांगुली ने रवींद्र जडेजा को रणजी ट्रॉफी फाइनल में खेलने की इजाजत नहीं दी

बता दें कि रणजी ट्रॉफी फाइनल (Ranji Trophy Final) राजकोट  में 9 से 13 मार्च तक राजकोट में खेला जाएगा. 

इसलिए सौरव गांगुली ने रवींद्र जडेजा को रणजी ट्रॉफी फाइनल में खेलने की इजाजत नहीं दी

रवींद्र जडेजा की फाइल फोटो

खास बातें

  • जडेजा ने मांगी थी रणजी फाइनल में खेलने की इजाजत
  • फाइनल मैच 9 से 13 मार्च तक खेला जाएगा
  • जय शाह ने दिया बीसीसीआई को सुझाव
नई दिल्ली:

रवींद्र जडेजा  (Ravindra Jadeja) की घरेलू टीम सौराष्ट्र रणजी ट्रॉफी के फाइनल में पहुंच गई है, लेकिन जडेजा को फाइनल में खेलना नसीब होने नहीं जा रहा ! सूत्रों  की मानें, तो बीसीसीआई ने रोक दिया है! दरअसल सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन ने बीसीसीआई से रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) को फाइनल में खिलाने के लिए अनुमति मांगी थी, लेकिन बॉस सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने इजाजत देने से इनकार कर दिया. बता दें कि रणजी ट्रॉफी फाइनल (Ranji Trophy Final) राजकोट  में 9 से 13 मार्च तक राजकोट में खेला जाएगा. 

यह भी पढ़ें:  इस वजह से मशरफे मुर्तजा ने लिया वनडे कप्तानी छोड़ने का फैसला, मतलब यह है कि....

सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष जयदेव शाह ने कहा कि मैंने जडेजा को लेकर सौरव गांगुली से बात की थी, लेकिन बीसीसीआई अध्यक्ष ने इजाजत देने से इंकार कर दिया. उन्होंने कहा कि सौरव ने कहा कि देश पहले आता है और राज्य बाद में. दरअस बात यह है कि जब रणजी ट्रॉफी फाइनल खेला जा रहा होगा, उसी दौरान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज खेली जा रही होगी और रवींद्र जडेजा टीम इंडिया का हिस्सा होंगे. 

यह भी पढ़ें:  मिताली राज को साड़ी में क्रिकेट खेलते देखिए, दिए कई संदेश

बस इसी वजह से सौरव गांगुली ने रवींद्र जडेजा को रणजी फाइनल में खेलने की अनुमति देने से इनकार कर दिया. बहरहाल, शाह ने इस पर कहा कि अगर बीसीसीआई वास्तव में चाहता है कि उसके मुख्य खिलाड़ी  अहम घरेलू टूर्नामेंटों में खेलें, तो बीसीसीआई को रणजी ट्रॉफी फाइनल के दौरान कोई अंतरराष्ट्रीय मैच आयोजित नहीं होना चाहिए. यह मेरा सुझाव है. सवाल यह है कि क्या बीसीसीआई आईपीएल के दौरान कोई अंतरराष्ट्रीय मैच आयोजित करेगा. नहीं करेगा क्योंकि यहां से पैसा आता है. 

VIDEO: पिंक बॉल बनने की पूरी कहानी, स्पेशल स्टोरी. 

शाह ने कहा कि रणजी ट्रॉफी केवल तभी प्रसिद्ध हो सकती है, जब सितारा खिलाड़ी कम से कम फाइनल में जरूर खेलें. फाइनल के दौरान अंतरराष्ट्रीय मैच बिल्कुल भी न हो.