NDTV Khabar

इस बड़े ग्रुप ने खरीदी दिल्ली डेयर डेविल्स की पचास फीसदी हिस्सेदारी, दो वजह से संभव हुआ सौदा

उम्मीद है कि टूर्नामेंट शुरू होने से पहले आईपीएल से जुड़ी और बड़ी खबरें सामने आएंगी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. साल 2008 में करीब साढ़े पांच सौ करोड़ कीमत थी डेयर डेविल्स की
  2. वर्तमान में करीब दो गुनी हो चुकी है ब्रांड की कीमत
  3. जेएसडब्ल्यू ग्रुप आधी रकम चुकाएगा जीएमआर ग्रुप को
नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल ) 2018 शुरू होने से पहले टूर्नामेंट की 'अंगड़ाइयां' शुरू हो गई हैं. खबर आ रही है कि दिल्ली डेयर डेविल्स की पचास फीसदी हिस्सेदारी जिंदल साउथ वेस्ट (जेएसडब्ल्यू) ने खरीद ली है. बता दें कि साल 2008 में सभी टीमें बनने के बाद ऐसा पहली बार हुआ है, जब किसी टीम की इतनी बड़ी हिस्सेदारी किसी ने खरीदी है. आईपीएल गवर्निंग बॉडी के हरी झंडी दिखाने के साथ ही इस सौदे पर अंतिम मुहर भी लग जाएगी. बता दें कि जेएसडब्ल्यू ग्रुप ने पहले से ही भारत में फुटबॉल, कबड्डी और कुश्ती लीग की फ्रैंचाइजी हासिल कर रखी है.
  आपको याद करा दें कि साल 2008 में जीएमआर ग्रुप ने दिल्ली डेयर डेविल्स को करीब साढ़े पांच सौ करोड़ रुपये में खरीदा था. पिछले काफी लंबे समय से जेएसडब्ल्यू ग्रुप आईपीएल में इंट्री करने की कोशिश कर रहा था, लेकिन फ्रेंचाइजी के रवैये के कारण ऐसा नहीं हो पा रहा था, लेकिन आईपीएल के मीडिया अधिकार रिकॉर्ड कीमत पर बिकने ने यह सौदा होने में बड़ा रोल निभाया. स्टार इंडिया ने पांच साल के लिए डिजिटल और टेलीविजन अधिकार 16,347 करोड़ रुपये में खरीदे थे
 
यह भी पढ़ें : IPL Auction 2018 : पिता भारत के टॉप-10 बिजनेसमैनों में, दोबारा बोली में किसी तरह 30 लाख में बिका बेटा

वहीं जीएमआर के पचास फीसदी हिस्सेदारी बेचने की एक और वजह यह रही कि प्रत्येक फ्रैंचाइजी टीम को अगले पांच साल में केंद्रीय रिवेन्यू पूल से करीब 150 करोड़ रुपये मिलेंगे. यह रकम पिछले सेशन की करीब दो गुना राशि है. और इससे प्रत्येक टीम को हर साल करीब 50 करोड़ रुपये तक का मुनाफा हासिल करने में मदद मिलेगी. बहरहाल, जेएसडब्ल्यू ग्रुप ने 50 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के लिए मोटी रकम चुकाई है.

टिप्पणियां
VIDEO: एनडीटीवी से कुछ दिन पहले बातचीत में गौतम गंभीर ने कई अहम बातें कीं

फिलहाल दिल्ली डेयर डेविल्स टीम की अनुमानित कीमत 1100 करोड़ रुपये है. और जेएसडब्ल्यू ग्रुप जीएमआर को इस साझेदारी के लिए करीब 550 करोड़ रुपये चुकाएगा.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement