तिहरे शतक के बाद बाहर आया मनोज तिवारी का दर्द, लेकिन...

कल्याणी में बंगाल और हैदराबाद के बीच खेले जा रहे रणजी ट्रॉफी मुकाबले के दूसरे दिन सोमवार को मनोज तिवारी ने तिहरा शतक जड़ा था.

तिहरे शतक के बाद बाहर आया मनोज तिवारी का दर्द, लेकिन...

मनोज तिवारी की फाइल फोटो

खास बातें

  • रणजी ट्रॉफी में तिवारी ने जड़ा तिहरा शतक
  • हैदराबाद के खिलाफ खेली 303 रन की पारी
  • भारत के लिए खेल चुके हैं 12 वनडे
कल्याणी:

टीम से बाहर चल रहे भारत के लिए 12 वनडे मुकाबले खेल चुके बंगाल के बल्लेबाज मनोज तिवारी (Manoj Tiwary) इन दिनों अपने जड़े तिहरे शतक के लिए चर्चा में हैं. यह तिहरा शतक उन्होंने सोमवार को जारी रणजी ट्रॉफी मैच में जड़ा था. और मनोज तिवारी की इस 303 रन की पारी ने प्रशंसकों का ध्यान अपनी ओर खींचा. बहरहाल, इस तिहरे शतक के बाद मनोज तिवारी (Manoj Tiwary) का मलाल और दर्द भी सामने आया है, जिससे अभी तक उनका मन बहुत ही दुखी है. 

यह भी पढ़ें:  ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एरॉन फिंच ने विराट कोहली को लेकर दिया बड़ा बयान

तिवारी ने कहा, ‘आईपीएल में नहीं बिकने की बात पचाना काफी मुश्किल था, लेकिन यह सच्चाई है. निश्चित रूप से जब आप इतने सारे युवाओं को खेलते हुए देखते हो तो यह बुरा लगता है. मैं जब घर पर बैठकर उन्हें देखता हूं तो मुझे लगता है कि वो शाट मैं लगा सकता था.' उन्होंने कहा, 'शायद फ्रेंचाइजी प्रबंधन कुछ अलग चीज देख रहा था.' तिवारी आईपीएल में केकेआर और किग्स इलेवन पंजाब के लिए खेल चुके हैं. पिछले दिनों हुई नीलामी में जब उनके नाम पर किसी भी टीम ने बोली नहीं लगाई, तो खेल बिरादरी में इसे हैरानी के रूप में लिया गया था. 

यह भी पढ़ें:  सहवाग ने कोहली की कप्तानी के इस पहलू पर उठाया सवाल, एमएस धोनी को बेहतर करार दिया

कल्याणी में बंगाल और हैदराबाद के बीच खेले जा रहे रणजी ट्रॉफी मुकाबले के दूसरे दिन सोमवार को मनोज तिवारी ने तिहरा शतक जड़ा था. उन्होंने 414 गेंदों का सामना करते हुए पांच चौकों से 303 रन की पारी खेली थी. इसी के साथ तिवारी इस तरह देवांग गांधी (323) के बाद तिहरा शतक जड़ने वाले बंगाल के दूसरे खिलाड़ी बन गए थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO:  पिंक बॉल बनने की पूरी कहानी, स्पेशल स्टोरी. 

तिवारी के इस तिहरे शतक की बदौलत बंगाल ने सात विकेट पर 635 रन का विशाल स्कोर पर अपनी पहली पारी घोषित कर दी थी. बहरहाल, एक बात साफ है कि तिहरे शतक के बावजूद तिवारी का टीम इंडिया में  वापसी बहुत ही मुश्किल है. और वजह है कि उनकी उम्र और मिड्ल ऑर्डर पूरी तरह से पैक होना.