NDTV Khabar

IND vs SL: ऋद्धिमान साहा बोले, आर. अश्विन के पास रवींद्र जडेजा और कुलदीप यादव से ज्‍यादा वेरिएशंस

भारतीय टीम के विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा ने ऑफ स्पिनर अश्विन की जमकर प्रशंसा की है.

44 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND vs SL: ऋद्धिमान साहा बोले, आर. अश्विन के पास रवींद्र जडेजा और कुलदीप यादव से ज्‍यादा वेरिएशंस

ऋद्धिमान साहा बोले, अश्विन विविधतापूर्ण गेंदबाजी करते हैं, उनकी लेंथ भी अलग होती है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कहा, अश्विन के सामने विकेटकीपिंग करना चुनौतीपूर्ण
  2. मैं अपने सभी 28 टेस्‍ट में उनके साथ खेला हूं
  3. भारत-श्रीलंका के बीच पहला टेस्‍ट 16 नवंबर से होगा
स्‍टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन श्रीलंका के खिलाफ गुरुवार से शुरू होने वाली टेस्‍ट सीरीज के साथ ही टीम इंडिया में वापसी करेंगे. सीरीज का पहला मैच 16 नवंबर से कोलकाता के ईडन गार्डंस में खेला जाएगा. अश्विन को हाल ही में ऑस्‍ट्रेलिया और न्‍यूजीलैंड के खिलाफ वनडे और टी20 सीरीज की भारतीय टीम में स्‍थान नहीं मिल पाया था. इसके बावजूद टेस्‍ट क्रिकेट में तमिलनाडु के इस स्पिन गेंदबाज की उपयोगिता जगजाहिर है. भारतीय टीम के विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा ने अश्विन की जमकर प्रशंसा करते हुए कहा है कि यह स्पिनर के खिलाफ विकेटकीपिंग करना बेहद चुनौतीपूर्ण होता है. साहा ने कहा कि वेरिएशंस के मामले में अश्विन अपने सहयोगी स्पिन गेंदबाजों रवींद्र जडेजा और कुलदीप यादव से काफी आगे हैं. टीम इंडिया के टेस्‍ट विकेटकीपर साहा ने कहा कि अश्विन वह विविधतापूर्ण गेंदबाजी करते हैं. वे अन्य से काफी ऊपर हैं. वह न सिर्फ विविधतापूर्ण गेंदबाजी करते हैं बल्कि उनकी लेंथ भी भिन्न होती है. उनके पास जडेजा, कुलदीप यादव की तुलना में अधिक वैरीएशन है.’ साहा ने कहा, ‘हमने रणजी, भारत 'ए' और अभ्यास के दौरान कई मैच खेले हैं. आप जितनी अधिक विकेटकीपिंग करेंगे, आपकी समझ उतनी बेहतर बनेगी. एक समय के बाद यह आसान बन जाता है. मैं अपने सभी 28 टेस्ट मैचों के दौरान उनके साथ खेला हूं.’ भारत ने सीरीज के लिए तीन स्पिनरों अश्विन, बायें हाथ के स्पिनर रवींद्र जडेजा और बाएं हाथ के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव को टीम में चुना है. ये तीनों ही एक-दूसरे से पूरी तरह भिन्न हैं.

वीडियो: पुजारा बोले, धोनी और विराट में जीत की भूख है कॉमन

साहा ने कहा, ‘आपका आधा काम गेंद छोड़ते समय गेंदबाज के हाथ का अनुमान लगाने से पूरा हो जाता है. इसके बाद आप देखते हो कि पिच से कितनी उछाल और टर्न मिल रहा है.पिच टर्न ले रही हो या नहीं, सभी गेंदों को रोकना सबसे बड़ी चुनौती होती है.’तेज गेंदबाजों में साहा ने इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी का नाम लिया जो सीम गेंदबाज के रूप में स्विंग गेंदबाजों की तुलना में अधिक चुनौती पेश करते हैं.  (इनपुट: एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement