NDTV Khabar

इन मंत्रों के साथ करें तुलसी की पूजा...

तुलसी को माता लक्ष्मी की रूप माना जाता है. इसीलिए हर दिन इनकी पूजा करना शुभ माना जाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इन मंत्रों के साथ करें तुलसी की पूजा...

इन मंत्रों के साथ करें तुलसी की पूजा

खास बातें

  1. तुलसी पूजा के लिए मंत्र
  2. तुलसी को माता लक्ष्मी की रूप माना जाता है
  3. तुलसी को जल चढ़ाने के लिए है अलग मंत्र
नई दिल्ली:

हर घर में तुलसी की पूजा होती है. घरों के आंगन या फिर बाहर तुलसी का पौधा रखा जाता है. मान्यता है कि जिस घर में तुलसी होती है वहां सुख-शांति बनी रहती है और पैसों की तंगी नहीं आती. इसके अलावा मान्यता यह भी है कि तुलसी की पूजा से मन में एकाग्रता आती है और क्रोध पर नियंत्रण बना रहता है. 

जब नारद ने नहीं होने दी शिव की शादी, जानिए कन्याकुमारी की कहानी

वहीं, धार्मिक मान्यताओं के अनुसार तुलसी को माता लक्ष्मी की रूप माना जाता है. इसीलिए हर दिन इनकी पूजा करना शुभ माना जाता है. इस पौधे के आगे धूप बत्ती जलाकर जल अर्पित किया जाता है. वहीं, इनकी पूजा सही मंत्रों के साथ की जाए तो फल और भी अच्छा मिलता है. 

यहां भक्तों को मिलता है रक्त में डूबे हुए कपड़े का प्रसाद, जानिए कामाख्या मंदिर की पूरी कहानी


यहां जानिए तुलसी पूजा करते वक्त किस मंत्र का उच्चारण करना चाहिए. 

तुलसी की पूजा करते वक्त करें इस मंत्र का जाप: 

तुलसी श्रीर्महालक्ष्मीर्विद्याविद्या यशस्विनी। 
धर्म्या धर्मानना देवी देवीदेवमनः प्रिया।। 
लभते सुतरां भक्तिमन्ते विष्णुपदं लभेत्। 
तुलसी भूर्महालक्ष्मीः पद्मिनी श्रीर्हरप्रिया।।

वहीं, तुलसी को जल चढ़ाते वक्त इस मंत्र का मन में करें उच्चारण:

महाप्रसाद जननी, सर्व सौभाग्यवर्धिनी
आधि व्याधि हरा नित्यं, तुलसी त्वं नमोस्तुते।।  

टिप्पणियां

कौन थी तुलसी? और क्यों गणेश जी की पूजा में इस्तेमाल नहीं होती तुलसी?
आपको बता दें, तुलसी भगवान गणेश को बिल्कुल पसंद नहीं. इसके पीछे एक पौराणिक कथा प्रचलित है कि एक बार गणेश जी गंगा किनारे तप कर रहे थे. वहीं, माता तुलसी अपने विवाह की इच्छा को पूरा करने के लिए तीर्थ यात्रा पर थीं. सभी तीर्थस्थलों का भ्रमण करते हुए वह एक दिन गंगा के तट पर आ पहुंची. इस तट पर भगवान गणेश को तप करते देख वह उनपर मोहित हो गई... यहां जानें आखिर क्यों गणेश जी ने माता तुलसी को दिया श्राप...

देखें वीडियो - गणेश पर निसार दुनिया
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement