NDTV Khabar

शनिदेव की मूर्ति पर तेल चढ़ाने की वजह जानकर दंग रह जाएंगे आप...

शनिदेव और हनुमान जी दोनों मित्र भी थे. लेकिन एक दिन शनिदेव को अपनी शक्ति पर घमंड हो गया. इस बीच शनिदेव ने हनुमान को युद्ध के लिए ललकारा.

483 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
शनिदेव की मूर्ति पर तेल चढ़ाने की वजह जानकर दंग रह जाएंगे आप...

क्यों चढ़ाते हैं तेल?

खास बातें

  1. शनि देव और हनुमान जी दोनों मित्र थे
  2. हनुमान ने शनि देव के शरीर पर तेल लगाया
  3. ये कथा रामायण काल से जुड़ी है
नई दिल्ली: शनिवार के दिन हर शनि मंदिर पर हम लोगों को शनिदेव की मूर्ति पर तेल चढ़ाते देखते हैं. हम में से ज्यादातर लोगों को आज तक इसके पीछे की वजह के बारे में साफ तौर पर कुछ नहीं पता. दरअसल, ऐसा करने के पीछे एक पुरानी कथा है. मान्यता है कि शनिवार के दिन शनिदेव पर तेल चढ़ाने से साढ़ेसाती खत्म हो जाती है और उनकी कृपा मिलती है. लेकिन कई कथाओं में तेल चढ़ाने की कोई और ही वजह बताई गई है. आज हम आपको बताएं कि आखिर ऐसा क्यो किया     जाता है.  

यह भी पढ़ें: क्यों और कितनी बार करनी चाहिए मंदिर में परिक्रमा? जानिए

ये कथा रामायण काल से जुड़ी है. जब हनुमान के बल और पराक्रम से सभी अवगत थे. शनिदेव और हनुमान जी दोनों मित्र भी थे. लेकिन एक दिन शनिदेव को अपनी शक्ति पर घमंड हो गया. इस बीच शनिदेव ने हनुमान को युद्ध के लिए ललकारा. हनुमान जी राम भक्ति में लीन थे, उसके बावजूद शनिदेव ने हनुमान से युद्ध करना चाहा. दोनों के बीच घमासान युद्ध हुआ. शनिदेव को काफी चोटें आईं क्योंकि हनुमान जी शनिदेव से अधिक बलशाली थे. 

अपने दोस्त शनिदेव को चोटिल देख हनुमान जी को बहुत दुख हुआ. उनकी पीड़ा को शांत करने के लिए हनुमान ने शनिदेव के शरीर पर तेल लगाया, ताकि उनके घायल मित्र की पीड़ा कम हो सके. इस तेल से शनिदेव की पीड़ा समाप्त हो गई. तभी से शनि जी की मूर्ति पर तेल अर्पित करने की पंरपरा शुरू हो गई.इसी वजह से ये माना जाता है कि उन पर तेल अर्पित करने से जीवन के सभी दुख-दर्द खत्म हो जाते हैं.

VIDEO: जब हेलीकॉप्टर से आए भगवान राम



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement