NDTV Khabar

भारत की UN में टिप्पणी, कितना अजीब है ओसामा को शरण देने वाला खुद को पीड़ित बता रहा है, 5 बातें

भारतीय राजनयिक एनम ने कहा, पाकिस्तान अपने छोटे से इतिहास में आतंक का पर्याय बन चुका है. वह भूमि जिसे ‘पाक’ बनाना था वह अब वास्तव में ‘विशुद्ध आतंक की भूमि’ बन चुकी है.

13 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत की UN में टिप्पणी, कितना अजीब है ओसामा को शरण देने वाला खुद को पीड़ित बता रहा है, 5 बातें

UN में भारत ने पाकिस्तान पर साधा निशाना

संयुक्त राष्ट्र: पाकिस्तान को ‘टेररिस्तान’ बताते हुए आज भारत ने आज कहा कि वह आतंक का पर्याय बन चुका है. वहां एक फलता-फूलता उद्योग है, जो वैश्विक आतंकवाद को पैदा करता है और उसका निर्यात करता है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर मुद्दा उठाया था जिसके बाद भारत ने अपने प्रतिक्रिया देने के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए कहा कि यह कितनी अजीब बात है कि जिस देश ने ओसामा बिन लादेन को संरक्षण दिया और मुल्ला उमर को शरण दे रखी है वही देश खुद को पीड़ित बता रहा है.
मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :
  1. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन में प्रथम सचिव एनम गंभीर ने कहा, अब तक पाकिस्तान के सभी पड़ोसी तथ्यों को तोड़-मरोड़ने, धूर्तता, बेइमानी तथा छल-कपट पर आधारित कहानियां तैयार करने की उसकी चालों से भलीभांति परिचित हैं और परेशान हैं.
  2. वैकल्पिक तथ्यों को तैयार करने के प्रयासों से वास्तविकता नहीं बदल जाती.
  3. पाकिस्तान अपने छोटे से इतिहास में आतंक का पर्याय बन चुका है. वह भूमि जिसे ‘पाक’ बनाना था वह अब वास्तव में ‘विशुद्ध आतंक की भूमि’ बन चुकी है.
  4. पाकिस्तान अब ‘टेररिस्तान’ है जहां वैश्विक आतंकवाद का फलता-फूलता उद्योग है, जो आतंक पैदा कर रहा है और उसका निर्यात कर रहा है.
  5. उसकी वर्तमान स्थिति का अंदाजा इसी तथ्य से लगाया जा सकता है कि लश्कर-ए-तैयबा जिसे संयुक्त राष्ट्र ने आतंकी संगठन घोषित किया है, उसका प्रमुख हाफिज मोहम्मद सईद अब राजनीतिक दल का नेता बनने की तैयारी कर रहा है. (इनपुट्स : भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement