NDTV Khabar

हार्दिक पटेल के अनशन का 12वां दिन : BJP के बगावती तेवर वाले नेताओं का मिला साथ, घटा 20 किलो वजन

हार्दिक पटेल के स्वास्थ्य को लेकर डॉक्टरों के चिंता जताने के बाद गुजरात सरकार आगे आयी और पाटीदार नेता को अपना अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल खत्म करने के लिये मनाने का प्रयास किया. हार्दिक की भूख हड़ताल 12वें दिन भी जारी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हार्दिक पटेल के अनशन का 12वां दिन : BJP के बगावती तेवर वाले नेताओं का मिला साथ, घटा 20 किलो वजन

हार्दिक पटेल से मिले यशवंत सिन्‍हा और शत्रुघ्‍न सिन्‍हा

खास बातें

  1. हार्दिक की भूख हड़ताल 12वें दिन भी जारी है
  2. 25 अगस्त को अनशन शुरू किया था
  3. बीजेपी के कुछ बागी नेताओं का साथ हार्दिक को मिला है
नई दिल्ली: हार्दिक पटेल के स्वास्थ्य को लेकर डॉक्टरों के चिंता जताने के बाद गुजरात सरकार आगे आयी और पाटीदार नेता को अपना अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल खत्म करने के लिये मनाने का प्रयास किया. हार्दिक की भूख हड़ताल 12वें दिन भी जारी है. उन्होंने किसानों की कर्ज माफी और सरकारी नौकरियों एवं शिक्षा के क्षेत्र में ओबीसी वर्ग के तहत पाटीदार समुदाय के लिये आरक्षण की मांगों को लेकर 25 अगस्त को अनशन शुरू किया था. वहीं बीजेपी के कुछ बागी नेताओं का साथ भी उन्‍हें मिला है. मंगलार को शत्रुघ्‍न सिन्‍हा और यशवंत सिन्‍हा ने भी हार्दिक पटेल से मुलाकात की. 

यशवंत सिन्हा ने किया पीएम मोदी पर हमला, कहा- यह सरकार सिर्फ दो लोंगों की सरकार

वहीं गुजरात में बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार ने मंगलवार रात गांधीनगर में पाटीदार समुदाय के कई नेताओं के साथ बैठक की. इससे कुछ ही घंटे पहले डॉक्टरों ने पटेल के स्वास्थ्य को लेकर चिंता जतायी थी. अनशन के 11वें दिन पटेल का वजन करीब 20 किलोग्राम कम हो गया है. सोला सरकारी अस्पताल से संबद्ध डॉक्टरों ने कहा कि हार्दिक का वजन कम हो गया है और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत है.    समुदाय के छह विभिन्न संस्थाओं से संबद्ध पाटीदार नेताओं के साथ बैठक के बाद गुजरात के ऊर्जा मंत्री सौरभ पटेल ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता यह सुनिश्चित करना है कि पाटीदार नेता अपना अनशन खत्म कर लें.    राज्य के राजस्व मंत्री कौशिक पटेल एवं प्रदेश के गृह मंत्री प्रदीपसिंह जडेजा ने विश्व उमीय फाउंडेशन, उमीय माता संस्थान और खोडलधम ट्रस्ट एवं अन्य से संबद्ध पाटीदार नेताओं से बात की. 

भूख हड़ताल: हार्दिक ने जारी की अपनी ‘वसीयत’, आंखें भी करेंगे दान

ऊर्जा मंत्री ने कहा, ‘‘बैठक के दौरान हमने कहा कि सरकार हार्दिक पटेल के बारे में चिंतित है. हमने नेताओं से अपील की कि वे हार्दिक पटेल को अनशन खत्म करने के लिये मनायें. नेताओं ने वादा किया कि वे इस संबंध में हार्दिक पटेल से मुलाकात करेंगे.’’ पाटीदार नेताओं के प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई करने वाले सीके पटेल ने संवाददाताओं को बताया कि वे सरकार की भावनाओं से पटेल को अवगत करायेंगे. इससे पहले सौरभ पटेल ने दावा किया था कि पाटीदार आरक्षण आंदोलन कांग्रेस के समर्थन वाली राजनीतिक मुहिम है. इस बीच, हार्दिक पटेल के समर्थन में कई नेता आगे आये.  मंगलवार को पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और भारतीय जनता पार्टी के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने हार्दिक के आवास पर उनसे मुलाकात की. 

PM मोदी के खिलाफ और राहुल के समर्थन में ट्वीट कर घिरे BJP के पूर्व सांसद तरुण विजय, फिर बोले-हैक हो गया था हैंडल

टिप्पणियां
यशवंत सिन्हा ने संवाददाताओं से कहा, "केंद्र और राज्य की सरकारों को छोड़कर बाकी पूरा देश हार्दिक के अनशन से हिल उठा है." यशवंत सिन्हा ने अप्रैल में भाजपा से इस्तीफा दे दिया था. दोनों नेताओं ने कहा कि हार्दिक की मांगों को उनका पूरा समर्थन है. यशवंत ने कहा, "हार्दिक ने किसानों का जो मुद्दा उठाया है, वह सिर्फ गुजरात तक सीमित नहीं है, बल्कि यह पूरे देश के लिए प्रासंगिक है. किसान गहरी पीड़ा में हैं और इस स्थिति को एक स्थायी समाधान की जरूरत है. मैं विपक्ष सहित हर किसी से अपील करता हूं कि किसानों के मुद्दों को देशभर में उठाया जाए."

VIDEO: BJP विधायक ने लड़कों से कहा, ‘लड़की पसंद आए तो बताना भगा लाउंगा’
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement