चेन्नई और दिल्ली से कर्नाटक जाने वालों के लिए येदियुरप्पा सरकार ने बनाए ये नियम...

कर्नाटक की बीएस येदियुरप्पा सरकार ने राज्य में चेन्नई और दिल्ली से आने वाले लोगों के लिए नये नियम बनाए हैं.

चेन्नई और दिल्ली से कर्नाटक जाने वालों के लिए येदियुरप्पा सरकार ने बनाए ये नियम...

प्रतीकात्मक.

नई दिल्ली:

देश में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. भारत में कोरोनावायरस से 3 लाख 32 हजार से ज्यादा लोगों संक्रमित हो चुके हैं और 9500 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है. कोरोनावायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए कर्नाटक की बीएस येदियुरप्पा सरकार ने राज्य में चेन्नई और दिल्ली से आने वाले लोगों के लिए नये नियम बनाए हैं. कर्नाटक सरकार के अनुसार इन दोनों जगहों से आने वाले लोगों  को 3 दिन के लिए इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन और 11 दिन के लिए होम क्वारंटीन में रहना होगा. मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने ये आदेश जारी किए हैं.
 


राज्य में अभी तक महाराष्ट्र से आने वाले लोगों को सात दिनों तक संस्थागत क्वारेंटाइन (इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन) में रखने का प्रावधान था और अन्य राज्यों से कर्नाटक आने वाले बिना लक्षण वाले लोगों के लिए संस्थागत पृथक-वास अनिवार्य नहीं था. महाराष्ट्र के अलावा अन्य राज्यों से आने वाले लोगों को गृह पृथक-वास में रहने को कहा गया था. येदियुरप्पा ने कहा, 'जो लोग महाराष्ट्र से आ रहे हैं, उन्हें सात दिन इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन में और बाकी के सात दिन होम क्वारंटीन में रहना होगा, जबकि चेन्नई और दिल्ली से आने वाले लोगों को तीन दिन तक इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन में और 11 दिन होम क्वारंटीन में रहना होगा.'

पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि यह फैसला राज्य में कोरोनावायरस से संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लिया गया है. येदियुरप्पा ने कहा, 'दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों की वजह से कोविड-19 के मामले बढ़े हैं न कि राज्य के भीतर आवाजाही से, इसलिए हमें बाहर से आने वाले लोगों को नियंत्रित करना होगा, हमें उन्हें क्वारंटीन में रखना होगा और उपायों को कड़ा करना होगा.' कर्नाटक में कोविड-19 के बढ़ते मामलों पर चर्चा के लिए शीर्ष मंत्रियों और अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करने के बाद येदियुरप्पा पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे.

लॉकडाउन के सवाल पर उन्होंने कहा, 'राज्य में लॉकडाउन लागू करने की कोई योजना नहीं है और प्रधानमंत्री से हम और ढील देने का अनुरोध करेंगे.' उल्लेखनीय है कि राज्य में कोविड-19 के सामने आए 7,000 मामलों में 4,386 संक्रमित महाराष्ट्र से लौटे हैं जबकि 1,340 लोग उनके संपर्क में आने की वजह से संक्रमित हुए. विदेश से आए 216, दिल्ली से आए 87, तमिलनाडु से आए 67 और गुजरात से आए 62 लोगों के भी कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है. मुख्यमंत्री ने संकेत दिया कि राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़ सकती है. उन्होंने लोगों को भरोसा दिलाया कि राज्य सरकार हर एहतियाती उपाय अपना रही है. उन्होंने लोगों से समाजिक दूरी का अनुपालन कर सहयोग करने की अपील की.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: कर्नाटक में अब 7 दिन ही इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन

(इनपुट: भाषा से भी)