सबरीमाला विवादः केरल में फिर भड़की हिंसा, बीजेपी सांसद के घर पर देसी बम से हमला

सत्ताधारी सीपीआई (एम) नेता एएन शमसीर समेत कई नेताओं के घर पर हमले की जानकारी मिल रही है.

सबरीमाला विवादः केरल में फिर भड़की हिंसा, बीजेपी सांसद के घर पर देसी बम से हमला

खास बातें

  • केरल में हिंसक प्रदर्शनों का दौर जारी
  • बीजेपी सांसद के घर पर फेंका गया देसी बम
  • सीपीआई (एम) विधायक के घर भी फेंका गया था बम
केरल:

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं की एंट्री के बाद से हिंसक प्रदर्शनों का दौर जारी है. शुक्रवार देर रात भी हिंसा की खबरें मिली हैं. सत्ताधारी सीपीआई (एम) नेता एएन शमसीर समेत कई नेताओं के घर पर हमला हुआ. शनिवार सुबह कुछ लोगों ने बीजेपी सांसद वी मुरलीधरन के घर पर देसी बम से हमला किया. इस हमले में कोई नुकसान नहीं हुआ है. शुक्रवार को भी बीजेपी और आरएसएस से संबधित दफ्तरों पर हमला कर नुकसान पहुंचाया था. वहीं इससे पहले थलसारी से विधायक के घर पर बम फेंके गए. पुलिस के अनुसार रात करीब 10 बजे बाइक पर सवार बदमाशों ने  कन्नूर जिले स्थित मडपीडिकायिल में विधायक के आवास पर बम फेंके. 

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के बाद केरल में बिगड़े हालात, 750 से ज्यादा लोग गिरफ्तार, पढ़ें 10 बड़ी बातें

हमले के बाद सीपीआई (एम) विधायक शमसीर ने कहा कि राज्य में हिंसा भड़काने के लिए आरएसएस साजिश रच रहा है. वह केरल में हिंसा भड़काकर यहां की शांति को भंग करना चाहता है. जानकारी के मुताबिक हमले के वक्त विधायक घर पर मौजूद नहीं थे. वह एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बाहर गए थे. शमशीर के अलावा सीपीएम के एक और नेता पी शशि के घर पर भी बम फेंके जाने की सूचना है. वहीं एक कन्नूर जिले के इरित्ति में सीपीएम कार्यकर्ता विशाक पर भी हमले होने की जानकारी मिल रही है. 

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के दाखिल होने के बाद 'शुद्धिकरण' के खिलाफ याचिका

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के बाद से केरल में शुक्रवार के पूरे दिन प्रदर्शन की खबरें मिलती रही. केरल के कई जगहों पर देसी बम और पत्थर फेंके जाने की सूचना है. पुलिस के अनुसार कि मालाबार देवस्वओम (मंदिर प्रशासन) बोर्ड के सदस्य के. शशिकुमार के घर पर शुक्रवार तड़के देसी बम फेंका गया था. पुलिस ने बताया पथनमथिट्टा के अडूर में मोबाइल की एक दुकान पर भी इसी तरह के विस्फोटक फेंके गए थे. 

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं की एंट्री के खिलाफ आज केरल बंद, झड़प में 1 प्रदर्शनकारी की मौत

Newsbeep

प्राप्त जानकारी के अनुसार अब तक कम से कम 1718 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है और यह संख्या और बढ़ने की संभावना है. इसके अलावा हिंसक प्रदर्शनों के संबंध में 1108 मामले दर्ज किये जा चुके हैं. गुरुवार को हिंदू समर्थक संगठनों ने सुबह से शाम तक हड़ताल का आह्वान किया था. उन्होंने बताया कि इस वक्त 1009 लोगों एहतियातन हिरासत में रखा गया है. बता दें कि अब तक हिंसक प्रदर्शनों में 132 पुलिसकर्मियों और 10 मीडियाकर्मियों समेत 174 लोग घायल हो चुके हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video:मिशन 2019: सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के विरोध में हिंसा