NDTV Khabar

राज्‍यसभा चुनाव: सोनिया गांधी के सलाहकार अहमद पटेल की साख का सवाल, जानें 5 बातें

कांग्रेसी नेता शंकर सिंह वाघेला की बगावत और बीजेपी की शह पर कांग्रेस से इस्‍तीफा देकर चुनाव मैदान में उतरे बलवंत सिंह राजपूत की वजह से पांचवीं बार राज्‍यसभा चुनाव लड़ रहे अहमद पटेल की चुनाव राह आसान नहीं है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राज्‍यसभा चुनाव: सोनिया गांधी के सलाहकार अहमद पटेल की साख का सवाल, जानें 5 बातें

अहमद पटेल (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. गुजरात में मंगलवार को हो रहे राज्‍यसभा चुनाव
  2. अहमद पटेल की सीट पर फंसा पेंच
  3. बीजेपी ने घेरने की बनाई खास रणनीति
गुजरात में मंगलवार को हो रहे राज्‍यसभा चुनाव में कांग्रेस के दिग्‍गज नेता अहमद पटेल को बीजेपी की तरफ से खासा चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है. कांग्रेसी नेता शंकर सिंह वाघेला की बगावत और बीजेपी की शह पर कांग्रेस से इस्‍तीफा देकर चुनाव मैदान में उतरे बलवंत सिंह राजपूत की वजह से पांचवीं बार राज्‍यसभा चुनाव लड़ रहे अहमद पटेल की चुनावी राह आसान नहीं है. इस पूरे चुनाव में गुजरात की तीन में से एक राज्‍यसभा सीट पर ही सबकी निगाहें हैं. यदि अहमद पटेल हारते हैं तो नवंबर में होने वाले चुनावों के लिहाज से कांग्रेस के मनोबल पर विपरीत असर पड़ना तय है. दूसरी बात यह है कि पटेल कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार हैं. ऐसे में उनकी हार से कांग्रेस को मनोवैज्ञानिक झटका लगेगा. इस पूरी पृष्‍ठभूमि में अहमद पटेल से जुड़ी पांच खास बातों पर एक नजर:

1. भरूच से ताल्‍लुक रखने वाले अहमद पटेल (67) सात बार संसद में गुजरात से प्रतिनिधित्‍व कर चुके हैं. तीन बार लोकसभा (1977-1989) और चार बार से राज्‍यसभा (1993 से लगातार) सांसद हैं. 

पढ़ें: गुजरात राज्यसभा चुनाव में NCP से आया ट्विस्ट, पढ़ें 7 खास बातें  

2. 1976 में गुजरात के भरूच से पहली बार स्‍थानीय निकाय चुनाव में जीत हासिल कर सियासी सफर का आगाज किया. जनवरी-सितंबर, 1985 तक तत्‍कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के राजनीतिक सचिव रहे.

पढ़ें: 10 सीटों के लिए राज्‍यसभा चुनाव, शाह का 'दांव'-अहमद पटेल की राह कठिन

3. वह अहसान जाफरी के बाद गुजरात के ऐसे दूसरे मुस्लिम नेता हैं जो लोकसभा के लिए राज्‍य से चुने गए.

4. 2001 में कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव बने. 2004 और 2009 के लोकसभा चुनाव में पार्टी के लिए रणनीति बनाने में अहम भूमिका निभाई.

टिप्पणियां


5. मीडिया से आमतौर पर दूर रहने वाले पटेल यूपीए सरकार के दौरान कांग्रेस के दूसरे 'सबसे शक्तिशाली नेता' माने जाते थे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement